गर्भावस्था में जुड़वाँ बच्चे (ट्विन्स) होने के लक्षण

Loading...

एक महिला के जीवन के लिए गर्भावस्था बहुत मनोहर और खूबसूरत पल होता है| ये ऐसा समय होता है जब महिला को अपना और अपने होने वाले बच्चे के सम्पूर्ण विकास का ध्यान रखना चाहिए| लेकिन जब उन्हें गर्भ में जुड़वा बच्चे होने की जानकारी मिलती हे तो वो अचंभित हो जाती है और मन ही मन झुंझलाने लगती है| अगर आप भी कुछ ऐसी ही परिस्थिति से जूझ रही है तो घबराएं नहीं, यह समय चिंतित होने का नहीं है बल्कि आने वाले उन नन्हे मेहमानों के ध्यान रखने का है|

अगर आप चिंतित होकर या विचलित होकर तनाव ग्रस्त हो जाती है तो समझ लीजिये इसका बुरा असर आपके होने वाले बच्चों पर भी होगा| जिसके लिए आपको बाद में पछताना भी पड़ सकता है| इसलिए अपने आप को संभाले तथा अपना और अपने होने वाले बच्चों का पूरा ध्यान रखें| आज हम आपको कुछ ऐसी ही परिस्थितियों के बारे में जानकारी दे रहे है|

तो Twin Pregnancy Symptoms in Hindi को ध्यान से पढ़े, इन लक्षणों को समझें और अपने मातृत्व जीवन को कृतार्थ करें| हमारे जीवन में कुछ परिस्थिति ऐसी होती है जिसकी वजह से भी जुड़वाँ बच्चों का जन्म होता है| आइये जाने कुछ ऐसे ही महत्वपूर्ण तथ्य|

जाने और समझें Twin Pregnancy Symptoms in Hindi

Twin Pregnancy Symptoms in Hindi

महत्वपूर्ण तथ्य: हमारे जीवन में कुछ परिस्थिति ऐसी होती है जिसकी वजह से भी जुड़वाँ बच्चों का जन्म होता है| आइये जाने कुछ ऐसे ही महत्वपूर्ण तथ्य-

  1. अगर महिला की उम्र 30 वर्ष से अधिक हो|
  2. अगर महिला की उम्र आम महिलाओं की तुलना में अधिक हो|
  3. महिला का वजन अगर अधिक हो|
  4. अनुवांशिक (genetic) गुणों की वजह से भी जुड़वां बच्चों का जन्म होता है|
  5. अगर महिला पहले गर्भवती हो चुकी हो|
  6. अगर आपके साथ कुछ ऐसी परिस्थिति बन रही है तो समझ लीजिये की आप भी जुड़वां बच्चो को जन्म दे सकती है|

Twins Pregnancy Symptoms: जुड़वा बच्चों के लक्षण 

आज हम आपको कुछ ऐसे लक्षण बताने वाले है, जिनके जरिए आप यह समझ सकते है की आप जुड़वाँ बच्चो को जन्म देने वाली है|

  1. अगर कोई महिला गर्वावस्था के समय अपने मन, विचार और सपनों में जुड़वाँ बच्चों के बारे में सोचती हो, तो ऐसी महिलाओं को जुड़वां बच्चे हो सकते है|
  2. अगर आपके परिवार वाले या मित्र आपको सलाह देते हैं कि आप जुड़वाँ बच्चों की देखभाल कर सकते है| इसका कोई सबुत तो नहीं है मगर इस परिस्थिति में भी जुड़वाँ बच्चे हो सकते है|
  3. यदि आपको फलों या कुछ पदार्थों को खाने पर बदबू आ रही हो या आप कुछ चुनिंदा पदार्थो का सेवन कर रहे हो|
  4. गर्भाशय का आकार दिन ब दिन बढ़ता जा रहा हो, तो यह गर्भ में दो भ्रूण होना दर्शाता है
  5. अधिक बार मूत्र त्याग करने की आवश्यकता पद रही हो तो वो भी इसके पीछे का कारण हो सकता है|
  6. गर्भाशय में ऐठन आना, ये खून की कमी की वजह से नही होता, यह निशानी है की आप जुड़वाँ बच्चो को जन्म देने वाली है|
  7. यदि महिला के स्तनों का आकार बहुत बढ़ गया है तो वो भी दो बच्चो को जन्म देने का लक्षण हो सकता है|
  8. न्यू जर्सी विश्वविद्यालय के एमडी, मातृ एवं भ्रूण चिकित्सा के निदेशक एवं प्रमुख श्री अब्दुल्ला अल-खान, के द्वारा बताया गया है कि अगर महिला की उम्र  25, 30 और 40 है और उन्हें मासिक धर्म समयावधि पर नहीं होता है| इस परिस्थिति में महिला के जुड़वां बच्चे होने की संभावनाएं बढ़ जाती है|

यह सभी ऐसे Twin Pregnancy Symptoms in Hindi है जो चिकित्सकीय रूप से भी बताये गए है कि इन सभी लक्षणों में से कोई भी लक्षण किसी महिला में पाया जाता है तो वह जुड़वाँ बच्चो को जन्म दे सकती है|

जुड़वां बच्चे चाहिये तो खाइये ये फर्टिलिटी फूड

यदि आप जुड़वा बच्चों को जन्म देना चाहती है तो यह प्रक्रिया किस्मत और जीन की बदौलत ही नहीं बल्कि कुछ पोस्टिक आहार की मदद से भी आप ऐसा कर सकती है, तो चलिए जानते है क्या है वो फर्टिलिटी फ़ूड जिनके द्वारा यह संभव है|

जिमीकंद : अफ्रीका में यरुबा जाति के लोग अपने आहार में जिमीकंद का इस्तेमाल सबसे ज्यादा करते है|  जिमीकंद में मौजूद रसायन हाइपर ओव्यूचलेशन में मदद करता है। इस जनजाति के लोगो में उच्च जन्मदर केवल जुडवा बच्चों की ही है|

डेयरी उत्पाद : दूध, माखन, पनीर और दही आदि जुडवा बच्चे पैदा करने की सम्भावना को बढा सकते हैं। हर डेयरी उत्पाद में अधिक मात्रा में कैल्शिीयम पाया जाता है। कैल्शियम ना केवल हड्डियों के लिये ही अच्छा होता है बल्कि यह प्रजनन प्रणाली को भी स्वस्थ्य रखता है। जो महिलाएं दूध पीती हैं उनमें पांच गुना अधिक संभावना होती है कि वह जुडवा बच्चे जन सकें।

फोलिक एसिड : रिसर्च में जुड़वां बच्‍चों के जन्‍म और आहार में फोलिक एसिड शामिल करने को एक साथ जोड़ कर देखा गया है। ऐसे आहार दाल, पालक और चुकंदर आदि खाने से जुड़वां बच्‍चे होने के आसार बढ जाते हैं।

काम्‍पलेक्‍स कार्बोहाइड्रेट : साबुत अनाज, दाल और सब्जियों में कार्बोहाइड्रेट ज्यादा होता है| अगर आप जुड़वां बच्चो को जन्म  देना चाहती है तो कार्बोहाइड्रेट युक्त पदार्थो का सेवन जयादा से ज्यादा करें|

आप भी इन सभी Pregnancy Symptoms in Hindi को समझे और अपने मातृत्व जीवन में जुड़वां बच्चों के सुख का आनंद ले|

Source: hrelate

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post: