गर्मियों में सौंदर्य बरकरार रखने के कई उपाय

Loading...

TIPS: गर्मियों में सौंदर्य बरकरार रखने के कई उपाय - India TVगर्मियों में आंतरिक सौंदर्य बनाए रखने के लिए शरीर में पर्याप्त मात्रा में पानी की उपलब्धता बनाए रखना आवश्यक है। गर्मियों में तापमान और पसीने की वजह से काफी मात्रा में तरल पदार्थ शरीर से कम हो जाते हैं तथा इनकी शरीर में बराबर मात्रा में उपलब्धता बनाए रखने के लिए कम से कम 6 से 8 गिलास पानी पीना चाहिए।

त्वचा तथा बालों के सौंदर्य के लिए गर्मियों में पर्याप्त पानी पीना आवश्यक है। वास्तव में पानी खून का मुख्य संघटक है। रक्त की तरलता की वजह से ही शरीर में पोषाहार तत्वों, ऑक्सीजन तथा विषैले पदार्थो का प्रवाह सुनिश्चित होता है। बालों की रक्त धमनियों में विद्यमान पोषाहार प्राप्त करने से ही बालों की सुंदरता सुनिश्चित होती है।

इसी तरह त्वचा की सतह में पर्याप्त रक्त संचार से ही त्वचा की सुंदरता को चार चांद लगते हैं। पानी से धमनियों में रक्त का संचार पर्याप्त रूप में प्रवाहित होता है। पर्याप्त मात्रा में पानी पीने से न केवल त्वचा में पर्याप्त आक्सीजन का प्रवाह होता है, बल्कि पानी त्वचा को हाइड्रेटिड करके त्वचा के प्राकृतिक संतुलन को भी नियंत्रित करता है।

इसे भी पढे:

गर्मियों में ठंडे पेयजल पर्याप्त मात्रा में पीने चाहिए। नींबू पानी सबसे बेहतर पेय पदार्थ माना जाता है। नींबू पानी को स्वादिष्ट बनाने के लिए आप उसमें एक चम्मच शहद तथा चुटकी भर नमक मिला सकती हैं। यदि आप मधुमेह जैसी किसी जीवनशैली से जुड़ी बीमारी से ग्रसित हैं तो आपको फ्रूट जूस, कोल्ड ड्रिंक, नमक, चीनी तथा शहद आदि के उपयोग से पहले अपने डाक्टर से पर्याप्त सलाह लेनी चाहिए।

बोलतबंद पेय पदार्थो की अपेक्षा ताजे फलों के जूस का सेवन करना चाहिए तथा उन्हें ताजे ठंडे पानी से हल्का कर लेना चाहिए। गुलाब तथा खस के अर्क से निर्मित हर्बल ड्रिंक का उपयोग गर्मियों में शरीर में प्राकृतिक कूलन्ट (शीतलता) का काम करता है।

हर्बल ड्रिंक में हल्का नींबू जूस मिलाकर एक चम्मच शहद तथा बर्फ मिलाकर आइस-टी का उपयोग किया जा सकता है। बर्फ के साथ जल जीरा लेने से भी शरीर में शीतलता मिलती है। मसालेदार, चटपटे, तले भूने खाने से परहेज करें तथा उनके बजाय सूप, लस्सी, दही, ताजे फल, सलाद को अपनी खुराक में शामिल करें। ताजे फलों तथा सलाद से शरीर में पानी की पर्याप्त उपलब्धता भी सुनिश्चित होती है। वास्तव में प्रकृति द्वारा प्रदान किए गए मौसमी फल हमारी शरीर की जरूरतों के पूरी तरह अनुरूप होते हैं।

गर्मियों में खरबूजा, तरबूज, ककड़ी काफी मात्रा में सस्ते दामों पर उपलब्ध होती है तथा इनमें पानी की अत्यधिक उपलब्धता होती है जोकि शरीर में पसीने से पानी की कमी को पूरा करती है। गर्मियों में खाने के बाद मिठाई की अपेक्षा दही के साथ शहद का सेवन करें या ताजे फलों का उपयोग करें। गर्मियों में आप खाना खाने के बाद लस्सी पर्याप्त मात्रा में लीजिए। इससे न केवल शीतलता मिलेगी, बल्कि खाना हजम करने में भी सहायक होगा।

नींबू एवं पुदीना की पत्तियां निचोड़कर इन्हें उबलते गर्म पानी में एक घंटा तक उबलते रहने दीजिए। जब पानी ठंडा हो जाए तो इसमें नींबू जूस तथा बर्फ मिला लीजिए, यह ताजगी प्रदान करने वाला पेय बन जाएगा। आप इसमें अपने स्वाद अनुसार शहद, चुटकी भर नमक तथा काली मिर्च मिला सकती हैं।

नमक तथा काली मिर्च की बजाय आप इसमें सेंधा नमक तथा चाट मसाला भी डाल सकती हैं। पुदिना से शरीर में शीतलता आती है तथा यह कब्ज दूर करने में भी सहायक सिद्ध होता है। गर्मियों में तरबूज वास्तव में प्यास बुझाने में सर्वाधिक तौर पर सहायक होता है।

पर्याप्त मात्रा में पानी तथा तरल पदार्थ लेने से शरीर में विषैले पदार्थो को साफ करने में भी मदद मिलती है। इससे त्वचा तथा शरीर के सौंदर्य में निखार आता है। पर्याप्त मात्रा में पानी तथा पेयजल लेने से शरीर में ताजगी तथा निर्मलता का अहसास होगा। इससे वजन घटाने में भी मदद मिलेगी तथा शरीर को स्लिम बनाए रखने में मदद मिलेगी।

सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण यह है कि इससे आप हल्का तथा बेहतर महसूस करेगी। सौंदर्य मात्रा बाहरी दिखावट नहीं है, बल्कि आंतरिक अहसास भी है।

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post: