थाइरोइड के लक्षण

Loading...

थाइरोइड (Thyroid) एक सामान्य बीमारी है जिससे महिलाएं सबसे ज़्यादा प्रभावित होती हैं। इसका पता चलते ही इसका उपचार शुरू कर देना चाहिए। शुरूआती चरणों में ये ठीक होने की स्थिति में रहते हैं, पर इसे नज़रअंदाज़ कर देने पर ये गंभीर भी हो सकते हैं। गले के पास एडम्स एप्पल  (Adam’s apple)  के नीचे एक तितली के आकार की ग्रंथि (gland) होती है। यह हमारी चयापचय क्रिया (metabolism) को नियंत्रित करती है। यह ग्रंथि थाइरोइड हॉर्मोन्स (thyroid hormones)  का उत्पादन करती है और यह खून में मौजूद रहते हैं। Read about symptoms of thyroid in Hindi (Thyroid ke lakshan).

इस ग्रंथि में थाइरोइड को प्रभावित करने वाला एक हॉर्मोन होता है, जो ज़रुरत पड़ने पर इनका उत्पादन शुरू या बंद कर सकता है। जब ये हॉर्मोन्स ज़्यादा निकलने लगते हैं, तब इन्हें हाइपरथाइरॉइडिस्म  (hyperthyroidism)  कहा जाता है। जब ये सामान्य से कम निकलने लगते हैं,  तब इसे हाइपोथाइरॉइडिस्म (hypothyroidism) कहा जाता है। Thyroid ke Lakshan

हाइपरथाइरॉइडिस्म के लक्षण (Symptoms of Hyperthyroidism)

इसके होने का मुख्य कारण हॉर्मोन्स की मात्रा शरीर में बढ़ जाना है। यह बीमारी होने की संभावना महिलाओं में पुरुषों के मुकाबले 10 गुना ज्यादा होती है।

  • दिल की धड़कन का तेज़ होना
  • ज़्यादा पसीना निकालना
  • बेचैनी होना
  • हाथ कांपना
  • मांसपेशियों में कमज़ोरी
  • कम समय में काफी वज़न घट जाना
  • त्वचा में परिवर्तन
  • बालों का झड़ना

एक ही बार में सारे लक्षण नज़र नहीं आएंगे। लेकिन अगर आपको एक से ज़्यादा लक्षण के होने का अहसास हो,  तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएँ।

हाइपोथाइरॉइडिस्म के लक्षण (Some common signs of Hypothyroidism)

शरीर में थाइरोइड हॉर्मोन्स के कम हो जाने पर हाइपोथाइरॉइडिस्म होता है और इससे शरीर की काम करने की गति काफी धीमी हो जाती है। पुरुषों और महिलाओं दोनों को ही यह समस्या हो सकती है, पर महिलाओं में इसके होने की संभावना अधिक होती है।

  • थकान होना
  • अधिक ठण्ड लगना
  • दिल की धड़कनों का धीमा होना
  • काफी नींद आना
  • याददाश्त कमज़ोर होना
  • वज़न बढ़ना
  • मांसपेशियों में तनाव (Muscle cramps)
  • बालों का झड़ना
  • अधिक मात्रा menstrual bleeding होना
  • बांझपन (infertility)
  • ध्यान लगाने में तकलीफ होना
  • त्वचा का रूखा होना
  • तनाव
  • स्तनों से दूध जैसा कोई द्रव्य निकलना

इसके कई लक्षण उम्र बढ़ने से जुड़े लक्षणों से मेल खाते हैं। अगर इनमें से कोई समस्या है तो आप बिना किसी देरी के डॉक्टर से संपर्क करें।

कुछ और लक्षण  (Some more Symptoms)

थाइरॉइडाइटिस  (Thyroiditis)

इसमें गले के पास सूजन जैसा अहसास होता है। ऐसी स्थिति में ग्रन्थियां काफी बड़ी हो जाती हैं और समय के साथ सिकुड़ने भी लगती हैं। हाशिमोटोस थाइरॉइडाइटिस  (Hashimoto’s thyroiditis)  एक परिवार में पीढ़ी दर पीढ़ी चलती रहती है।  यह समस्या महिलाओं के साथ ज़्यादा होती है। पोस्ट पार्टम थाइरॉइडाइटिस (postpartum thyroiditis) से सबसे ज़्यादा गर्भवती महिलाएं प्रभावित होती हैं,  पर बच्चे के जन्म के बाद ये समस्या दूर हो जाती है। कुछ वायरल (viral)  तथा बैक्टीरियल (bacterial)   की वजह से भी ये स्थिति पैदा हो सकती है।

घेंघा (goiter)

असामान्य सूजन जो एक अतिरिक्त रूप से बढ़ी हुई ग्रंथि की वजह से होती है उसे घंघा (goiter) कहते है। इसका आकार काफी बड़ा और देखने में काफी बदसूरत लगता है। यह शरीर में आयोडीन की कमी के कारण होता है।

गांठें (Nodules or Lumps)

गांठें ग्रंथियों के अंदर या बाहर बन सकती हैं और इन्हें नोड्यूल्स (Nodules) कहा जाता है। करीब  7 %  लोग दुनियाभर में इस समस्या से पीड़ित हैं और  90 %  मामलों में यह कैंसर (cancer)  से जुड़ा नहीं होता है। उन लोगों को थाइरोइड का कैंसर  (Thyroid cancer) हो सकता है,  जिनके सिर या गले पर रेडिएशन (radiation) हुआ हो। इसकी वजह से आपको सांस लेने में और निगलने में तकलीफ होती है, पर यह इलाज से यह ठीक भी हो सकता है।

Source: healthindian

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post: