इस थेरेपी से कम होगा ब्रेस्ट कैंसर का खतरा

Loading...

इस थेरेपी से कम होगा ब्रेस्ट कैंसर का खतरा

हेल्दी लाइफस्टाइल अपनाने से महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर के विकसित होने का खतरा काफी कम हो जाता है. हाल ही में हुए एक शोध में यह बात सामने आई है.

खानपान का रखें ख्याल
शोधकर्ताओं के अनुसार, विकासशील देशों की महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर का खतरा सबसे अधिक होता है. इस शोध के निष्कर्ष से पता चला है कि अमेरिका की 30 साल की गोरे रंग की त्वचा वाली महिला को औसतन 80 साल की उम्र तक ब्रेस्ट कैंसर होने की संभावना 11.3 फीसदी होती है. हालांकि अल्कोहल के कम इस्तेमाल, वजन पर काबू और हार्मोन रिप्लेसमेंट थेरेपी से बचने से स्तन कैंसर के मामले को 30 फीसदी तक टाला जा सकता है.

जीवनशैली में बदलाव जरूरी
अमेरिका के जॉन होपकिंग्स विश्वविद्यालय के प्रोफेसर निलंजन चटर्जी का कहना है कि आप अपनी जीन को तो बदल नहीं सकते लेकिन हमारे निष्कर्षो से पता चला है कि जिन लोगों को जेनेटिक खतरा होता है, वे अपनी जीवनशैली में बदलाव लाकर जैसे, सही खानपान, कसरत और तंबाकू के परहेज आदि को अपनाकर इस बीमारी से छुटकारा पा सकते हैं.

अभी और शोध करने की जरूरत
चटर्जी कहते हैं कि इस शोध के परिणाम से लोगों को स्वस्थ जीवनशैली के लाभ को व्यक्तिगत स्तर पर समझने में मदद मिलती है. शोधकर्ताओं का कहना है कि हालांकि यह शोध फिलहाल गोरी महिलाओं पर ही लागू होते हैं. विभिन्न जातीय समूहों के जीन के प्रभाव को समझने के लिए आगे अन्य शोध करने की जरूरत है. यह शोध जामा ओंकोलॉजी जर्नल में प्रकाशित किया गया है.

Source: emalwa

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post: