पीले दाँत व मसूड़ों की समस्याओं हेतु मसालेदार उपचार

Loading...

हम सभी जानते है कि मसाले हमारे भोजन में बेमिसाल स्वाद व खुशबू पैदा कर देते है। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि ये रसोई की आम वस्तुएँ या सामग्री आपकी मुँह की समस्याओं से आपका बचाव करती है।

Daant aur Masudo Ka Upchar in Hindiसफेद दाँत:

कौन नहीं चाहेगा कि अपने मोती जैसे दाँतों के लिए इतराए? पर इसके लिए दाँतों की स्वच्छता एवं सुरक्षा रखना जरूरी है और मसाले भी इसमें आपकी मदद कर सकते है।

1. तिल:

तिल के बीजों को यदि स्क्रब की तरह प्रयोग में लिया जाए अथवा दाँतों पर मला जाए तो वे दाँतों पर जमी परत को हटाते है। दाँतों को सफेद बनाने का दूसरा तरीका यह है कि 15 मिली. तिल के तेल से मुँह में कुल्ला करें एवं फिर थूक दें। पानी से मुँह साफ कर लें। चमकते हुए दाँतों के लिए इसे रोज सुबह करें।

2. जायफल:

यह अद्भुत मसाला मुँह के किटाणुओं को बढ़ने से रोकता है एवं दाँतों पर जमे प्लाक को हटाता है। एक चुटकी जायफल पाउडर लें एवं उसे अपने दाँतों पर मले। पानी से कुल्ला करके ब्रश कर लें।

मसूड़ों की समस्याएँ:

कई ऐसी वजह हो सकती है जिनके परिणामस्वरूप आपको मसूड़ों की समस्याएँ जैसे मसूड़ों में दर्द व सूजन हो सकती है। सारी मसूड़ों की समस्याएँ साधारण उपलब्ध मसालों से प्रभावी रूप से दूर हो सकती है।

1. सूखा हुआ अदरक का पाउडर:

(सौंठ) मसूड़ों की सूजन व दर्द से राहत पाने हेतु सौंठ को सूजे हुए मसूड़े पर लगाए क्योंकि इसमें एंटीइफ्लेमेटरी तत्व होते है जो दर्द को कम राहत पँहुचाते है।

2. जायफल:

यह मसाला मुँह की समस्याओं जैसे मसूड़ों में दर्द एवं सूजन हेतु सबसे उत्तम है। जायफल के तेल की कुछ बूंदे रूइ के फाहे पर डाल कर दर्द पीडि़त क्षेत्र पर थपथपा कर लगाएँ।

3. लौंग:

मसूड़ों की समस्याओं को दूर करने के आम तरीकों में से लौंग का उपयोग भी है। दर्द व सूजन में राहत पाने हेतु लौंग का तेल मसूड़ों पर लगाएँ।

4. दालचीनी:

यदि आप मसूड़ें की सूजन या मुँह की किन्हीं समस्याओं जैसे दाँत दर्द या मुँह की बदबू से पीडि़त है तो राहत के लिए दालचीनी का एक छोटा टुकड़ा चबाएँ। दाँतों एवं मसूड़ों के लिए दालचीनी के एंटी-बैक्टीरियल गुण काम करते है।

Source: healthindian

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post: