अगर आपको हमेशा जावन देखना है तो यह ज़रूर पढ़े!

Loading...

अगर आपको हमेशा जावन देखना है तो यह ज़रूर पढ़े!

 

रसोई मे तो सभी बीमारियों के इलाज छिपे हुए है बस जानकारी होनी चाहिए। आज यहाँ टमाटर के गुणों के विषय मे बात करते हैं। आप चाहे इसे सब्जी में डालें, सलाद के रूप में खाएं या किसी और रूप में, यह आपके लिए बेहद फायदेमंद साबित होगा – आपकी त्वचा को यंग रखता है, मोटापा घटाता है और आपको सेहतमंद और चुस्त रखता है। आइए, जानें टमाटर के ऐसे फायदे जिनसे आप बुढापे को कह सकते हैं की “आज नहीं कल आना”
टमाटर मे प्रति आक्सीकारक (एंटी ऑक्सीडेंट) तत्व होते है जो शरीर को शीघ्र वृद्ध होने से बचाते है । कई अन्य रोगों से भी टमाटर हमे बचाता है। टमाटर के कई अन्य फ़ायदे ये भी है कि इसमे वसा और सोडियम की मात्रा कम और पोटेशियम ज्यादा होता है ।
भोजन करने से पहले दो या तीन पके टमाटरों को काटकर उसमें पिसी हुई कालीमिर्च, सेंधा नमक एवं हरा धनिया मिलाकर खाएं। इससे चेहरे पर लाली आती है व पौरूष शक्ति बढ़ती है
टमाटर के गूदे में दूध व नींबू का रस मिलाकर चेहरे पर लगाने से चेहरे पर चमक आती है। टमाटर झुर्रियों को कम करता है और रोम छिद्रों को बड़ा करता है। इसके लिए टमाटर और शहद के मिश्रण वाला फेस पैक इस्तेमाल करें
टमाटर में विटामिन ए, बी और सी ज़्यादा मात्रा में मिलता है। इतना अंगूर, संतरे में भी नहीं मिलते। संतरा और अंगूर से ज़्यादा लाभदायक टमाटर है। सेब, मौसम्मी, सन्तरे, द्राक्ष (मुनक्का) आदि फलों की अपेक्षा इसमें ख़ून उत्पन्न करने की क्षमता कई गुणा अधिक होती है। इसके यही गुण ही आपको बुढापे से बचाते हैं।
मोटापा घटाने मे भी टमाटर का रस उपयोगी होता है इसमे काला नमक और काली मिर्च के चार दाने पीस कर मिला लें । इसे सलाद मे खाने से दाँतो की बीमारियाँ पास नहीं आतीं है ।
टमाटर विटामिन ” ए ” और “सी ” से युक्त होता है तथा इसमे रेशेदार तत्व भी भरपूर मात्रा मे मौजूद होते है जो हमारे शरीर को कैंसर जैसे भयानक रोग से बचाता है । हावर्ड मेडिसिन स्कूल मे हुए एक अदध्यन के अनुसार कैंसर द्वारा होने वाली मृत्यु की संभावना उन लोगों मे कम से कम पाई गई जो टमाटर तथा स्ट्राबेरी का सेवन प्रति सप्ताह करते थे ।
यदि टमाटर व इससे बनी चीजें प्रतिदिन हम अपने भोजन मे शामिल कर लें तो यह हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत गुणकारी होगा। नित्य टमाटर का रस पीने से या कच्चा टमाटर सलाद मे खाने से कोई बीमारी पास नहीं फटक सकती ।
पौष्टिक गुणों के कारण टमाटर की गणना फलों में की जाने लगी है। 6 प्रकार के विटामिन में से टमाटर में पाँच प्रकार के विटामिन पाये जाते हैं। टमाटर में पोटाश, लौह, चूना, मैगजीन और लवण पर्याप्त मात्रा में है। टमाटर में ताजगी देने वाले और ख़ून साफ़ करने वाले खट्टे पदार्थ भी है। टमाटर में चूना अन्य फल-सब्जियों की तुलना में ज़्यादा पाया जाता है। टमाटर में लोहा तत्त्व बहुत ज़्यादा मात्रा में पाया जाता है।
पथरी, खांसी, आर्थराइटिस, सूजन या मांसपेशियों के दर्द में टमाटर के सेवन का निषेध किया गया है। लेकिन टमाटर लीवर, गुर्दा और अन्य रोगों पर महत्त्वपूर्ण काम करते हैं। यह आंतों को व्यवस्थित करते हैं।
रोज 100 ग्राम टमाटर से 20 कैलोरी ऊर्जा शरीर को प्राप्त होती है। रोज़ 1 से 2 टमाटर खाने से चिकित्सक की आवश्यकता ही नहीं पड़ेगी।
पके टमाटर भोजन के साथ लेने से भूख बढ़ती है, पाचन शक्ति मज़बूत होती है और ख़ून एवं पित्त से संबन्धित अनेक रोग दूर होते हैं।
टमाटर में फाइबर ज़्यादा व कैलरीज कम होती हैं, जो वजन घटाने में मदद करती है। इसमें मौजूद बीटा कैरोटिन भी शरीर के लिए बेहद फ़ायदेमंद है।
टमाटर का रस तन-मन को ताजगी एवं सुस्ती को दूर करती है। टमाटर में तेजाबी अंश होते हैं, जो पेट को साफ़ रखता है।
कम वजन वाले लोग यदि भोजन के साथ पक्के टमाटर खाए तो लम्बे समय तक उनका वजन बढ़ता है। टमाटर अम्लपित्त, आमवात, सन्धिवात (जोड़ों का दर्द), सूजन और पथरी के रोगियों के लिए यह अनुकूल है।
टमाटर का खट्टा रस मनुष्य के जठर के लिए उपयोगी, जलन को शांत करता है, पेट का दर्द, मेदवृद्धि (मोटापा में वृद्धि), सारक, ख़ून को शुद्ध करता है और अग्निमान्द्य आदि के लिए लाभकारी है।
टमाटर के नियमित सेवन से पेट साफ रहता है।टमाटर इतने पौष्टिक होते हैं कि सुबह नाश्ते में केवल दो टमाटर संपूर्ण भोजन के बराबर होते हैं और सबसे बड़ी बात तो यह है कि इनसे आपके वजन में जरा भी वृद्धि नहीं होगी। एक मध्यम आकार के टमाटर में केवल 12 कैलोरीज होती है, इसलिए इसे पतला होने के भोजन के लिए उपयुक्त माना जाता है।
Source: ann24x7
कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post: