अधिक वजन और मोटापे के साथ जुड़े स्वास्थ्य प्रभाव

Loading...

ज़्यादा वज़न बढ़ने के स्वास्थ्य पर प्रभाव (List of health side effects of overweight or obesity)

Health-effects-of-overweight-or-obesity

उच्च रक्तचाप (High blood pressure)

जिन लोगों की त्वचा पर चर्बी की काफी मोटी परत होती है, उनके उच्च रक्तचाप की समस्या से ग्रस्त होने की संभावना काफी अधिक होती है। यह स्वास्थ्य की एक ऐसी स्थिति है जो मानव शरीर में तब उत्पन्न होती है, जब शरीर का रक्त मनुष्य के दिल की धमनियों की दीवारों की तरफ ज़्यादा दबाव डालने लगता है। अगर यह दबाव एक ही जगह पर कुछ समय से ज्यादा देर तक पड़ जाता है तो इससे मानव के ह्रदय की कई तरह से क्षति होने की संभावना बनने लगती है।

कोरोनरी दिल की बीमारी (effectiveness of obesity in Hindi causes Coronary heart disease)

यह शरीर को होने वाला एक और बड़ा नुकसान है, जो ऐसी स्थिति में होता है जब शरीर में चर्बी के ज़रुरत से ज्यादा जम जाने से कोलेस्ट्रोल की मात्रा (cholesterol level) में काफी हद तक वृद्धि हो जाती है। इसके अंतर्गत प्लाक (plaque) नामक एक मोम जैसा पदार्थ मनुष्य की धमनियों के अन्दर काफी मात्रा में जमने लगता है। हमारे शरीर की धमनियों का साफ़ रहना दिल के लिए काफी आवश्यक है, क्योंकि ये हमारे रक्त में ऑक्सीजन (oxygen) का संचार करती हैं और यही रक्त हमारे ह्रदय में जाता है, जिससे इसका धड़कना जारी रहता है। पर यह प्लाक कोरोनरी धमनियों को बंद कर देता है, जिसके फलस्वरूप दिल का दौरा पड़ने की संभावना काफी बढ़ जाती है।

टाइप 2 मधुमेह (overweight effectiveness in Hindi leads to Type 2 diabetes)

अनियमित और अस्वस्थ खाने की आदतों की वजह से एक अन्य गंभीर स्वास्थ्य समस्या आपके सामने पेश आ सकती है, और वह है टाइप 2 मधुमेह। यह एक ऐसी स्थिति होती है, जिसके अंतर्गत आपके शरीर के रक्त में ग्लूकोस (glucose) की मात्रा काफी बढ़ जाती है। हमारे शरीर की एक तय प्रक्रिया होती है, जिसके अंतर्गत यह भोजन को ग्लूकोस के रूप में तोड़ता है। यहाँ से भोजन को तंतुओं (cells) में ले जाया जाता है, जहां रक्त में शुगर (sugar) की मात्रा को नियंत्रण में लाने के लिए इसमें इन्सुलिन (insulin) नामक हॉर्मोन (hormone) का संचार किया जाता है।

अत्याधिक वज़न के कारण कैंसर (Cancer due to overweight)

मोटे व्यक्तियों को कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। ऐसी कई बीमारियों में से एक जानलेवा बीमारी, जिससे अत्याधिक वज़न वाले बुरी तरह प्रभावित हो सकते हैं, कैंसर है। कैंसर के कई प्रकार होते हैं, जिनसे अलग अलग कारणों की वजह से लोगों को निपटना पड़ता है। जिन व्यक्तियों का वज़न ज़रुरत से अधिक है, उन्हें कोलन कैंसर, एंडोमेट्रियल कैंसर, स्तन कैंसर तथा गॉल ब्लैडर के कैंसर (colon cancer, endometrial cancer, breast cancer and gallbladder cancer) का सामना करना पड़ता है।

गॉलस्टोन्स (Gallstones)

ऐसे कई लोग जो मोटापे से त्रस्त होते हैं, शरीर में गॉलस्टोन्स पैदा होने की समस्या से परेशान रहते हैं। गॉलस्टोन पत्थर का एक कड़ा टुकड़ा है, जो गॉल ब्लैडर के ऊपर जम जाता है। अतः आपके लिए बचाव के उपाय तैयार रखना काफी ज़रूरी है, जिससे कि आपके शरीर में गॉलस्टोन का उत्पादन ना हो सके। यह एक दर्दनाक स्वास्थ्य समस्या है, जिसके अंतर्गत पीड़ित व्यक्तियों को मूत्र का निकास (urination) करने के वक़्त काफी दिक्कतों एवं प्रचंड पीड़ा का सामना करना पड़ता है। जिन लोगों का वज़न ज्यादा होता है, वे भी ब्लैडर के बड़े हो जाने की समस्या से ग्रसित हो जाते हैं।

Source: hinditips

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post: