क्या है रुखी त्वचा के लिए उपचार

Loading...

त्वचा दो प्रकार की होती है, तेलीय त्वचा और रूखी त्वचा। रूखी त्वचा कडी होती है, इसे प्राकृतिक रूप से चिकनाई प्रदान करने वाले तत्व नहीं मिल पाते है। रुखी त्वचा में सिबेशियस ग्रंथियाँ पूर्ण रूप से काम नहीं करती जिससे पूर्ण नमी नहीँ मिल पाती और त्वचा में रूखापन आ जाता है।

Remedies for Dry Skin in Hindi

रुखी त्वचा को नमी और चिकनाई वाले तत्वों की आवश्यकता होती है। यह रूखी त्वचा खास तोर से गले और आँखों के आस-पास की होती है, इन स्थानों पर प्राकृतिक तेल कम मात्रा में रिसता है जिसके कारण गले, आँखों के आस-पास झुर्रियाँ आने लगती है। साबुन लगाने के बाद त्वचा सूखी हो जाती है इसलिए रुखी त्वचा को अधिक धोना नहीं चाहिए। सूर्य की रोशनी से जितना हो सके बचें क्योंकि इससे त्वचा का जल स्तर घट जाता है।

रुखी त्वचा के उपचार घरेलू नुस्खे

1. घी (Ghee for Dry Skin)

देसी गाय के घी से मालिस करने से त्वचा मुलायम हो जाएगी और चमक भी बढ़ेगी।

2. नारंगी (Orange for Dry Skin)

नारंगी के छिलकों को सुखा कर पीस ले। इनको दूध में मिलाकर त्वचा पर मलें। आप इनकों जहा पर भी मलेंगे, वहां की त्वचा मुलायम हो जायेगी।

3. दूध (Milk for Dry Skin)

त्वचा पर दूध की मलाई को मलने से त्वचा मुलायम होती है। धूप की जलन से बचने के लिए दूध की मलाई में गुलाबजल मिलाकर त्वचा पर लगाए। दूध की मलाई में शहद मिला कर भी में सकते हैं।

4. चिकनाई (Moisture for Dry Skin)

रुखी त्वचा पर कोई भी चीस की चिकनाई लगाकर मालिस करने से लाभ मिलेगा।

5. पपीता (Papaya for Dry Skin)

पके हुए पपीते का गूदा पीसकर चेहरे पर लेप लगाने से चेहरे पर निखार आ जाता है और त्वचा कोमल हो जाती है।

6. मुल्तानी मिटटी (Multani Mitti for Dry Skin)

नाहाते समय मुल्तानी मिट्टी का प्रयोग करे, आपकी त्वचा को चिकनाई और नमी मिलेगी और चरम रोग भी खत्म होंगे।

7. साबुन (Soap for Dry Skin)

कोई भी ऐसा वैसा साबुन ना खरीदें यदि आपको साबुन लगाना है तो पंचगव्य से बना साबुन ही खरीदें। यह आपको आपके घर के आस पास की किसी भी गोशाला में मिल सकता हैं।

Source: healthindian

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post: