पेट की चर्बी कम करनी है तो जरूर करें ये काम !

Loading...

मोटापा किसी को भी अच्छा नहीं लगता। बढ़े हुए पेट को हर कोई फटाफट कम करना चाहता है लेकिन यह इतना आसान नहीं है। हमारी फैटी टम्मी हमारे फिगर को पूरी तरह से बिगाड़ कर रख देती है। लगातार घंटों एक ही जगह पर बैठकर काम करने की वजह से भी तोंद बाहर आ जाती है। यह देखने में तो बुरा लगता ही है, बल्कि हमारी सेहत को भी नुकसान पहुंचाता है। ज्यादातर महिलाएं इसकी शिकार होती हैं। दरअसल, ऐसा पेट में सूजन की वजह से होता है। खाया-पिया न पचना, कब्ज या गैस के कारण पेट फुला हुआ लगता है हालांकि गैस और कब्ज होना आम सी बात है लेकिन अगर यह परेशानी काफी दिनों तक बनी रहें तो डॉक्टर से जरूर चेकअप करवाएं।
पेट में सूजन के कारण
मोटापा हमारी खुद की खाने-पीनें की गलत आदतों का ही परिणाम है। कई बार हम बिना जानकारी के ऐसे आहारों का सेवन कर लेते हैं, जिसकी वजह से पेट में सूजन होती है। यह सूजन लीवर और दिल की गड़बड़ी के कारण भी हो सकती है। ज्यादातर लोग इस समस्या को आम समझ कर नजरअंदाज करते हैं जो कि गलत बात है। पेट में सूजन कम होगी तो तोंद अपने आप ही अंदर जाएगी।
 पेट की सूजन कम करने के तरीके
 
-कब्ज दूर करें
अगर आपको कब्ज रहती है तो पेट में गैस बनी रहेगी जिससे पेट फुला और टाइट रहता है। यह समस्या फाइबर और तरल पदार्थों की कमी की वजह से होती है।
इसे दूर करने के लिए हरी सब्जियां, दालें, बीज और फल को शामिल करें। साथ ही दिन में कम से कम 10-12 गिलास पानी जरूर पीएं और एक्सरसाइज को अपनी लाइफस्टाइल का हिस्सा बनाएं।
-भोजन आराम से करें
बिजी शैड्यूल के चलते लोग खाना भी ढंग से और शांति पूर्वक नहीं खाते। भोजन को पचाने के लिए उसे अच्छी तरह से चबाकर खाएं। चबाकर न खाने से शरीर के अंदर हवा चली जाती है जिससे पेट में स्वैलिंग हो सकती है इसलिए आहार को धीरे-धीरे और अच्छे से चबाकर खाएं।
-मीठी चीजों से परहेज
ज्यादा मीठे आहार से बचेें। यह मोटापे को बढ़ाता हैं। अगर आपका मन इन्हें खाने को ललचाएं तो दिन भर में 2 या 3 कृत्रिम मीठा आहार ले सकते हैं।
-सोडियम आहार से बचें
 500 ग्राम से ज्यादा सोडियम हमारे लिए हानिकारक है। हाई प्रोस्सेड फूड में सोडियम की मात्रा अधिक और फाइबर की मात्रा कम होती है जो पेट में भारीपन और सूजन का कारण बन सकती है। काफी समय से डिब्बे में बंद आहारों का सेवन न करें।
-ड्रिंक्स
लोग फास्ट फूड और भोजन के साथ कोल्ड ड्रिंक्स पीते हैं। खासकर आजकल के यंगस्टर्स। यह पेट में स्वैलिंग करते हैं। ज्यादा से ज्यादा ताजा पानी पीएं। इसके अलावा आप नींबू पानी, ग्रीन टी, पिपरामिंट टी भी पेट की सूजन को कम करते है।
इस तरह करें मोटापे पर कंट्रोल
कुछ लोग लगातार जिम या सैर करके वजन पर कंट्रोल रखते हैं तो कुछ डाइट प्लान फॉलो करते हैं। अगर आपके पास जिम जाने या सैर करने का समय नहीं है तो कुछ प्राकृतिक और घरेलू नुस्खों को अपनाकर वजन पर काबू रखेें।
गर्म पानी चर्बी को घोलता है और मूत्र के द्वारा बाहर निकालता है। खाना खाने के बाद एक ग्लिास गुनगुना पानी जरूर पीएं। इससे वजन तेजी से कम होता है। ध्यान रहें ऐसा खाना खाने के लगभग एक या पौने घंटे बाद करना है। आप चाहें तो गर्मियों में खाली पेट एक ग्लिास गर्म पानी, नींबू का रस और शहद मिलाकर पी सकते हैं। इससे वजन तेजी से कम होता है और कब्ज की परेशानी भी नहीं रहेगी।
दही के सेवन से भी शरीर की फालतू चर्बी कम होने लगती है। गर्मियों में नमकीन लस्सी  का सेवन 2-3 बार जरूर करें।
एक रिसर्च की मानें तो वजन कम करने का सबसे बेहतरीन तरीका मिर्च खाना है। हरी या काली मिर्च में पाए जाने वाले तत्व कैप्साइसिन से भूख कम होती है क्योंकि मिर्च खानेे से जलन होती है, जिससे वजन कंट्रोल में रहता है।
छोटी पीपल को पीसकर चूर्ण बना लें और कपड़े से अच्छी तरह छान लें। यह चूर्ण 3 ग्राम रोजाना सुबह के वक्त छाछ के साथ लेने से बाहर निकला हुआ पेट अंदर हो जाता है।
सूखे आंवले व हल्दी को पीसकर चूर्ण बना लें। इस चूर्ण को छाछ के साथ लें, कमर एकदम पतली हो जाएगी।
पपीते का सेवन करें। पपीता शरीर में चर्बी नहीं जमने देता और पेट संबंधी सभी परेशानियों का हल करता है।
ग्रीन टी में एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है। जो मोटापा घटाने के साथ-साथ चेहरे की झुर्रियों को भी दूर करता है। इससे मेटाबॉलिज्म सही रहता है। अगर आप बिना चीनी के ग्रीन टी पीएंगे तो ज्यादा फायदा होगा।
एप्पल साइडर वेनिगर को पानी या जूस के साथ मिलाकर पीने से मोटापा कम होता है। यह पाचन तंत्र को सही और कोलेस्ट्रॉल भी कम करता है।
पत्तागोभी का जूस पिएं क्योंकि उसमें चर्बी घटाने के गुण पाएं जाते हैं। इससे मेटाबॉलिज्म सही रहता है। इसी तरह सुबह उठते ही 250 ग्राम टमाटर का रस 2-3 महीने लगातार पीने से वसा में कमी होती है।
एक चम्मच पुदीने के रस में 2 चम्मच शहद मिलाकर लेने से भी मोटापा तेजी से कम होता है।
फल और सब्जियों में कैलोरी कम होती है इसलिए इन्हें ज्यादा से ज्यादा खाएं लेकिन केले और चीकू का सेवन न करेें। इनसे मोटापा बढ़ता है।
टमाटर, प्याज, मूली और खीरे का सलाद काली मिर्च और नमक छिड़क कर खाएं
इससे आपको विटामिन सी, विटामिन ए, विटामिन के, आयरन, पोटैशियम, लाइकोपीन और ल्यूटिन एक साथ मिलेंगे।
मालती की जड़ को अच्छी तरह से पीस लें और उसमें एक चम्मच शहद मिला लें। इस चूर्ण का सेवन छाछ के साथ पिएं। जिन महिलाओं का वजन डिलीवरी के बाद बढ़ जाता है उसके लिए यह रामबाण इलाज है।
ज्यादा से ज्यादा ताजा पानी पीएं। खाना खाने के तुरंत बाद या बीच बीच में पानी न पीएं
बल्कि एक-डेढ घंटे का अंतराल डालकर ही पानी का सेवन करें। इससे पेट और कमर से मोटापा कम होता है। जितनी भूख लगी है उससे थोड़ा कम ही खाएं।
केवल गेहूं की आटे की रोटी की बजाए उसमें सोयाबीन और चने का आटा मिक्स करें और मिक्स आटे की रोटी का सेवन करें।
अगर आप सैर करेंंगे तो आपका शरीर फिट एंड फाइन रहेगा। रोजाना कम से कम 30 मिनट वॉक पर जाएं। ऐसा करने से मांसपेशियां भी मजबूत बनती है।
संतुलित पौष्टिक आहार के साथ-साथ पूरी नींद लेनी भी बहुत जरूरी है क्योंकि ज्यादा तनाव लेने से हमारे हार्मोंस रिलीज होते हैं जिससे पेट की चर्बी बढ़ती है। 7 से 8 घंटे की नींद लेने वाले लोगों में पेट की फैट कम होती है।
Source: punjabkesari
कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post: