कामकाजी गर्भवती महिला के स्वस्थ रहने के उपाय

Loading...

गर्भावस्‍था के समय हर महिला को काम-काज से दूर रहने की सलाह दी जाती है, लेकिन आजकल कि काम-काजी महिलाएं खुद को ऑफिस जाने से नहीं रोक पाती। जब तक गर्भवती औरतों को तीन महीने का समय नहीं हो जाता तब तक वह ऑफिस से छुट्टी नहीं लेती। लेकिन उन्‍हें इस दौरान काफी सावधानी बरतनी चाहिये क्‍योंकि ज़रा सी भी लापरवाही उन्‍हें दुखी का पात्र बना सकती है।

गर्भावस्था में काम करना सेहत के लिए और होने वाले बच्चे दोनों के लिए अच्छा रहता है। डॉक्टर्स और तमाम शोधों के में यह बात सबित हो चुकी है कि यदि गर्भवती महिला गर्भधारण के बाद एक्टिव रहे तो वह गर्भावस्‍था की जटिलताओं को कक कर सकती है। दफ्तर के लिए जाते समय खाना और पानी अपने साथ जरुर रखें और कोशिश करें की खाना घर का ही बना हो। यह आपको विभिन्न प्रकार के संक्रमण और पाचन की अन्य बीमारियों से दूर रखेगा।

आइये जानते हैं कि गर्भवती औरतों को ऑफिस में किन-किन महत्‍वपूर्ण बातों का ख्‍याल रखना चाहिये।

कामकाजी गर्भवती महिलाएं रखें इन बातों का ख्‍याल

pregnant working women tips

सीड़ियां ना चढे़:-

धीरे-धीरे सीडि़यां चढ़ने से बचें और लिफ्ट का प्रयोग करें। सीडि़यां आपको आराम से थका सकती हैं और इससे एक्‍सीडेंट होने के बहुत से चांस भी होते हैं। साथ ही इससे गर्भनाल पर भी जोर पड़ता है। अगर जानबूझ कर सीडि़यों पर चढना ही पड़ जाए तो कोशिश करें कि हाथों में कोई समान ना हो। पैरों में हमेशा बिना हील की चप्‍पल पहनें।

डॉक्टर से सलाह लेते रहे:-

यदि आप कामकाजी है और सप्ताह भर ऑफिस जाती हैं तो बीच-बीच में अपना चेकअप कराती रहें और डॉक्टर से सलाह लेती रहें। जब भी डॉक्टर आराम करने के लिए कहें तो सबकुछ भूलकर आप आराम करें।

पौष्‍टिक स्‍नैक साथ में रखें:-

प्रेगनेंसी के समय बहुत भूंख लगती है। एक समय में तीखा खाने का मन करता है तो दूसरे समय में कुछ मीठा। यह बहुत ही आम बात है इसलिये आपको थोड़ी – थोडी़ देर में खाने के लिये कुछ ऐसा समान रखना होगा जो हेल्‍दी हो।

कॉफी और सिगरेट को कहें ना:-

शिशु के लिये कैफीन बहुत नुक्‍सानदायक हो सकता है। कई स्‍टडी में इस बात का खुलासा किया गया है कि कै‍फीन से मिसकैरेज होने की संभावना होती है। इसी तरह से सिगरेट में भी निकोटीन होता है जो कि गर्भ में पल रहे बच्‍चे के लिये खतरनाक होता है। जब आप स्‍मोकिंग करती हैं तो बच्‍चे तक ऑक्‍सीजन नहीं पहुंच पाता जिससे बच्‍चे पर असर पड़ता है।

आरामदायक कपड़ों का चयन करें:-

बाज़ार में गर्भवती औरतों के लिए विभिन्न प्रकार के कपडे उपलब्ध हैं। उनका इस्तेमाल करें, इस समय आप जो भी कपडा पहनें वो मुलायम और प्राकृतिक धागे से बना होना चाहिए। आप अपने इस समय में ढीले कपड़ों का भी चयन कर सकते हैं जो की आज कल फैशन में भी हो और आपके लिए आरामदायक भी सिद्ध हों। हील्स वाली चप्पल बिलकुल न पहनें इनसे आपको हमेशा गिरने का डर बना रहेगा।

खान पान का विशेष ध्यान रखे:-

कामकाजी महिलाओं को गर्भधारण के बाद बच्‍चे के लिए समय निकालने की जरूरत पड़ती है। उनको खानपान पर विशेष ध्‍यान देने की जरूरत होती है।

बैठने का तरीका बदले:-

ऑफिस में लगातार एक ही जगह पर बैठने या लगातार काम करने से बेहतर है कि आप बीच-बीच में ब्रेक जरूर लें या फिर काम से थोड़ा आराम करते हुए कुछ हल्की-फुल्की एक्सरसाइज या स्ट्रेचिंग करें। कुर्सी पर सीधी बैठिये। बैक पेन ना हो इसके लिये पीठ के पीछे कुशन लगाइये। अगर आपको चक्‍कर आ रहें हों तो लंबी-लंबी सांस लीजिये और कुछ खाइये।

काम से ब्रेक लीजिये:-

एक ही जगह पर लगातार बैठने पर ब्‍लड सर्कुलेशन धीमा पड़ जाता हे। इसलिये आपको छोटा-छोटा ब्रेक लेना चाहिये। थोडा़ सा चलें और खूब सारा पानी पिएं। इस तरह के ब्रेक लेने से आपकी परेशानी दूर हो सकती है। गर्भावस्था के दौरान गर्भवती महिला के शरीर में अनेक प्रकार के परिवर्तन होते है। जिससे कई बार उन्हें अधिक समस्याएं होने लगती हैं। ऐसे में काम से छुट्टी लेकर आराम करना ही उनके स्वास्‍थ्‍य के लिए बेहतर रहता है।

गर्भावस्था के अंतिम माह में पूरी तरह से आराम करें और ऑफिस से मैटरनिटी लीव ले लें। जिससे किसी भी संभावित खतरे या समस्या को आने से पहले ही टाला जा सकें।

Source: hrelate

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post: