प्रेगनेंसी में कैसे रहना चाहिए

Loading...

रात को खाना कम या हल्का खाएं। भोजन में कुछ मात्रा में देसी घी को जरूर शामिल करें। साथ ही आप सूप का भी सेवन करें। एैसा करने से पाचनतंत्र पर किसी भी प्रकार का दबाब नहीं पड़ता है। और भूख भी कम लगेगी। आपको अचार, नमकीन व तीखे पदार्थों का सेवन नहीं करना है।
कुछ महिलाओं को नाखून चबाने के आदत रहती है। एैसा न करें क्योंकि नाखून चबाने से पेट में इंफेक्शन व कीड़े हो जाते हैं।

Pregnancy-Tips
दूध के साथ एक चम्मच केसर मिलाकर जरूर पीएं।
गर्भ के दौरान महिलाओं को दांतों और मसूड़ों की समस्या होने लगती है। एैसे में मसूड़ों और दांतों की सेहत को ठीक रखने के लिए जबड़े को पूरी तरह से खोलकर बंद करें। यानि जबड़ों का व्यायाम करें। एैसा 20 से 30 बारी तक करें।
तलवों पर जलन होने पर देसी घी से मालिश करें।
गुनगुने पानी को मुंह में 40 से 50 सेकंड तक रखें। एैसा करने से आप टान्सिल और गले संबंधित रोगों से बच सकते हो।
जुकाम होने पर तुलसी के पाउड़र को सूंघें।
गर्भ के पहले 3 माह में उबकाई वाली परेशानी को दूर करने के लिए आंवला व सोंठ का सेवन जरूर करें।
आंखों में जलन या दर्द होने पर एक कप में थोड़ा ठंडा पानी डालें और उसके उपर से एक बूंद लैवेंडर तेल की डालें। उसमें रूई भिगोकर अपनी आंखों के उपर लगाएं। आपको आराम मिलेगा।

Source: wahhindi

Loading...

शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post: