खर्राटों से परेशान लोग, फिजिशियन से नहीं दांतों के डॉक्टर से मिलें!

Loading...

खर्राटों से परेशान लोग, फिजिशियन से नहीं दांतों के डॉक्टर से मिलें!

क्या आपको भी रात में सोते समय खर्राटों की परेशानी रहती है? अगर हां, तो आपके लिए एक खुशखबरी है। अमेरिकी शोधकर्ताओं की एक टीम के मुताबिक ऐसी परेशानी में फिजीशियन को नहीं, बल्कि दांतों के डॉक्टर को दिखाना ज़्यादा ठीक रहेगा।

दांतों के डॉक्टर, जो जीभ की बीमारी और टॉसिल से भी जुड़े होते हैं, उसका बेहतर तरीके से पता लगाकर इलाज कर सकते हैं। प्रमुख शोधकर्ता अमेरिका के बफेलो यूनिवर्सिटी के थिकरित अल जेवैर का कहना है कि “दांतों के डॉक्टर स्लीप एनिपिया का बेहतर इलाज कर सकते हैं। ऊपर के एयर पैसेज में अवरोध के कारण खर्राटें आते हैं, जिसकी जांच और इलाज से ही समस्या को दूर किया जा सकता है”।

अल जेवैर ने सऊदी मेडिकल जरनल में प्रकाशित इस शोध में लिखा है कि सामान्य चिकित्सकों के मुकाबले दांतों के डॉक्टर, मरीज के मुंह के अंदर बेहतर तरीके से देख सकते हैं, इसलिए वे रोग के कारणों की पहचान बेहतर ढंग से कर सकते हैं।

कई युवाओं को स्लीप एनिपिया की बीमारी होती है। इस अव्यवस्था के कारण दिल से संबंधित परेशानियां, डायबिटीज़, निराशा, याददाश्त खोने के अलावा कई अन्य रोग भी हो सकते हैं।

Source: ndtv

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post: