पतले होने के लिए इन फ़ूड का त्याग करे

Loading...
वैट कम करने का यह मतलब नहीं है कि आप अपने फेवरेट फ़ूड का पूरी तरह त्याग करे। आप केवल उन्ही फ़ूड का त्याग करे जिसमें उच्च मात्रा में शुगर व फैट है। इसलिए इन डाइट का त्याग करे जब आप वैट घटा रहे हो एवं इन्हे अपने रेगुलर डाइट में से हटा दे।

Patla Hone Ke Liye Kya Na KhayePatla Hone Ke Liye Kya Na Khaye

  • कोल्ड ड्रिंक जब बहुत जरूरत हो तभी पीये क्योकि इसमें बहुत ज्यादा शुगर होती है यह मोटापा बढ़ाता है। जब आप प्यासे होते पानी ज्यादा पिये। कोल्ड ड्रिक पीने की बजाएं निम्बू पानी, बटर मिल्क, ग्रीन-टी और अन्य स्वस्थवर्धक पेय पिये।
  • हमें हमारे नियमित डाइट में से डिब्बा बंद फ़ूड का त्याग करना चाहिये क्योकि उसमें बहुत से केमिकल होते है जो सेहत के लिये हानिकारक है। इसलिए हमेशा ताजा फ़ूड ही करे, ताजा फ़ूड में आवश्यक मिनरल और विटामिन होते है जो हमारे शरीर के लिए जरूरी है।
  • शुगर में केलोरी बहुत ज्यादा होती है और पोषण बिल्कुल नहीं होता। आपको प्राकृतिक शुगर लेनी चाहिये। यह फल और सब्जियों में होती है और ये एनर्जी देते है।
  • तले हुए फ़ूड का त्याग करे क्योकि इनमें बहुत फैट होता है। ये तले हुए फ़ूड मोटापा बढ़ाते है। हम अक्सर फूट पोयजंनिग, दिल की बिमारियों एवम् मोटापे से ग्रस्त रहते है, ये सब तले आहार या फ़ूड लेने से होता है। इन डाइट का पूरी तरह से त्याग करे, इसकी जगह कच्ची और उबली हुई ताजा सब्जीयाँ खाये।
  • अल्कोहल का त्याग करे, शराब पीने के बहुत नुकसान है। बहुत से लोग कसरत करने के साथ-साथ शराब भी पीते है परन्तु स्वस्थ जीवन के लिए शराब को छोड़ना भी जरूरी है।
  • ब्रेट पास्ता, नूडल्स ऐसे फ़ूड है जिनमें उच्च केलोरी होती है। ये सारे आहार सफेद मेदे से बनते है। इनसे हाई ब्लडप्रेशर, हार्ट-अटेक, मोटापा, उच्च कोलोस्ट्रोल और अन्य बिमारियां हो जाती है।
  • माँस में बहुत ज्यादा फैट होता हैं। ये फैट मोटापा बढ़ाता है। मांस का ज्यादा सेवन करने से धमनियाँ बंद हो जाती है। इससे भविष्य में हार्टअटेक भी आ सकता है। अपने नियमित आहार में लाल माँस का त्याग करे।
  • हम में से बहुत लोग डेर्जट के बिना खाना नहीं खां सकते। परन्तु इन डेजर्ट में शुगर, क्रिम और फेटी प्रोडक्ट होते हैं। डॉक्टर रोज मीठा खाने से मना करते है। ये भविष्य के लिए बहुत ही खतरनाक है इनकी जगह ताजा फल खाये।
  • फास्टफूट जैसे पिज्जा बर्गर का त्याग करे, क्योकि इनमें पोषण नहीं होता है और केलोरी बहुत ज्यादा होती है। फास्ट-फूट के बजाय घर पर बना ओटमिल व फूट मेक्स खाये।
  • वैट कम करते समय ब्रेकरी वाले प्रोडक्ट नहीं खाये क्योकि इनमें क्राबोहाइड्रेड होता है जो वैट बढ़ाता है। ब्रेड-फूड जैसे आलू, ब्रेड, कूकिज आदि में सफ़ेद आटा और शुगर से बनते है इसलिए अगर वैट कम करना है तो इससे दूर रहे।

Source: healthindian

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post: