भूल जाएं मोटापा… अब मोटापा हो जायेगा छूमंतर

Loading...

भूल जाएं मोटापा... अब मोटापा हो जायेगा छूमंतर बदलती लाइफ स्टाइल में हम में से बहुत से लोग बढ़ते मोटापे से परेशान हैं। परेशानी इतनी है कि जब भी मौका मिलता है हम अपनी इस समस्या के विषय में बात करने से नहीं चूकते। हम ऑफिस में, दोस्तों के साथ, घर में और जहां मौका मिलता है बाकी लोगों की हां में हां मिलाते हुए देखे जा सकते हैं, जब मोटे लोग कहते हैं कि हमारा तो हवा खाकर भी वजन बढ़ता है। हम एक्सर्साइज न कर पाने के हजारों बहाने बता देते हैं।

कभी समय की समस्या, कभी नींद और कभी अन्य कोई जिम्मेदारी हमारे पतले होने के रास्ते में आ खड़ी होती है। परंतु मन ही मन हम इस बात से भी वाकिफ हैं कि असली दिक्कत एक्सर्साइज करने की इच्छा न होना है। यहां एक्सर्साइज से हमारा आशय जिम जाकर पसीना बहाने से है।

इस बात से हम सभी सहमत हैं कि एक्सर्साइज करने से आप हल्का महसूस करते हैं और बिना किसी दो राय के एक्सर्साइज शरीर को स्वस्थ रखने में सहायक है। लेकिन इसे करना अपने आप में एक बड़ी चुनौती है। एक नियत समय पर जिम जाना आज की लाइफ स्टाइल में नामुमकिन सा हो चला है। फिट होना न केवल अच्छे दिखने के लिए जरूरी है बल्कि इससे मोटापा, डिप्रेशन, चिंता, ह्रदय रोग, ब्लड प्रेशर, कुछ किस्म के कैंसर, टाइप-2 डायबिटीज और ओस्टेओपोरोसिस जैसी बीमारियों का असर भी कम होता है।

अब समय आ गया है कि आप एक फिट बॉडी के सपने देखना शुरू कर दें और आपकी एक्ससाइज न कर पाने की दिक्कत को भूल जाने के लिए तैयार हो जाएं। आप कहेंगे ऐसा क्या होने वाला है, जवाब में पेश हैं ऐसे तरीके जिनसे शरीर की भरपूर मेहनत होती है और आपको एहसास भी नहीं होता। आप जिम नहीं जा सकते, कोई बात नहीं क्योंकि जिम के बाहर भी अच्छे स्वास्थ्य के उपाय हैं जिन्हें आप अपना सकते हैं।

सायकिलिंग : छरहरा होने के लिए पहला कदम है- आप सायकिलिंग कर सकते हैं। सायकलिंग ऐसी शारीरिक गतिविधि है जिससे पेट सबसे पहले घटता है। पतली कमर के विषय में सोचना ही अपने आप में बेहद सुखद अनुभव है। सोचिए अगर पेट कम हो जाए तो आपका शरीर कितने जबरदस्त शेप में आ जाएगा। इसके अलावा सायकल चलाने से आपके पैरों की जबरदस्त एक्ससाइज होती है नतीजा पैर बेहतरीन शेप में आ जाते हैं। सायकिलिंग में आपके लंग्स को ज्यादा काम करना होता है जिससे आपके फेफड़ों में अधिक मात्रा में ऑक्सीजन जाती है जिससे आपका बॉडी मेटाबॉलिज्म बढ़ता है।

अगर आप सायकिलिंग के लिए सुबह का समय निकाल सकें तो बहुत बढ़िया है। सुबह आप सासायकिलिंग का 100 प्रतिशत नहीं बल्कि 200 प्रतिशत फायदा उठा पाएंगे परंतु शायद आप नींद को ज्यादा महत्व दें तो सायकिलिंग का आसान तरीका है कि ऐसी छोटी दूरियां जो आप अक्सर गाड़ी पर तय करते हैं सायकल पर की जाएं तो काम का काम हो जाएगा और व्यायाम भी। आप अपने लिए ऐसे छोटे-छोटे मिनट निकाल सकते हैं जब सायकिलिंग का मौका आपके हाथ में आराम से आ सकता है तो बस अभी से सोचना शुरू कर दीजिए और फिट बॉडी महसूस करना भी शुरू कर दीजिए।

पैदल चलना : पैदल चलना या जॉगिंग करना बहुत अच्छी क्रिया हैं जिनमें कैलोरी बर्न होती हैं। प्रतिदिन सामान्य गति से 30 से 40 मिनिट तक पैदल चलें। अगर आप सुबह पैदल चल सकें तो बहुत ही अच्छा है परंतु अगर ऐसा नहीं कर पा रहे हैं जब भी समय निकाल पाएं पैदल चलें। पैदल चलने से वजन कम होने के साथ साथ आपका मेटाबॉलिज्म बढ़ता है। यहां तक कि, हर दिन सिर्फ आधा घंटा चलकर आप 150 अतिरिक्त कैलोरी जलाते हैं। इसमें आप सीढ़ी चढ़ाना और उतरना भी शामिल कर सकते हैं। ये बहुत कारगर है। थकावट तो होगी और आप सोचेंगे लिफ्ट से आप जल्दी पहुंच जाएंगे परंतु इतना समय निकालकर चलें और सीढ़ियों का ही प्रयोग करें। आपके स्वास्थ्य के लिए यह बहुत जरूरी है।

जहां ताजी वायु उपलब्ध है पैदल चलने के लिए वहां जाएं। चलने के लिए अतिरिक्त समय आप मोबाइल पर बात करते हुए या गाने सुनते हुए निकाल सकते हैं। अगर कोई साथ उपलब्ध हो तो बहुत ही अच्छा है। यह साथ वक्त बिताने का बहुत सही तरीका है। बातों बातों में सेहत बनाना अब बहुत आसान है।

Source: samaybhaskar

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post: