अगर आप इन चीजों के साथ दवाइयां खाते हैं तो सावधान हो जाएं

Loading...
अगर दवाओं का सेवन खाने की गलत चीजों के साथ किया जाये तो न केवल दवाएं बेअसर हो जाती है बल्कि यह सेहत के लिए खतरनाक भी हो सकती है। आइए जानें कौन सी खाने-पीने की चीजों को किन-किन प्रकार की दवाइयों के साथ मिक्‍स नहीं करना चाहिये।
  • 1

    इन चीजों के साथ दवाइयां खाते हैं तो सावधान हो जाएं

    आजकल खराब लाइफस्‍टाइल, एक्‍सरसाइज में कमी और आहार में पोषक तत्‍वों की कमी के कारण हम में से शायद ही कोई ऐसा व्‍यक्ति हो जो दवाइयों का सेवन न करता हो। कोई मामूली सर्दी-जुखाम या कफ से परेशान हैं तो कोई डायबिटीज और ब्‍लड प्रेशर से। यानी हर कोई किसी न किसी रूप में दवाइयों का सेवन कर रहा है। यहां तक कि कुछ लोग तो जल्‍दी ठीक होने के लिए दूध जूस या चाय-कॉफी पीते-पीते भी दवाइयों का सेवन कर लेते हैं। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि कई ऐसी दवाइयां है जिनके साथ इन चीजों के सेवन से सेहत पर बुरा असर होने लगता है। जीं हां अगर दवाओं का सेवन खाने की गलत चीजों के साथ किया जाये तो न केवल दवाएं बेअसर हो जाती है बल्कि यह सेहत के लिए खतरनाक भी हो सकती है। आइए जानें कौन सी खाने-पीने की चीजों को किन-किन प्रकार की दवाइयों के साथ मिक्‍स नहीं करना चाहिये।

    इन चीजों के साथ दवाइयां खाते हैं तो सावधान हो जाएं
  • 2

    शराब के सेवन न करें

    अगर आप डायबिटीज की दवा, पेनकिलर या एंटी-हिस्टामिन दवाओं का सेवन कर रहे हैं तो इसके साथ शराब का सेवन करने से बचें। वैसे तो इन दवाइयों पर शराब सेवन ना करने की चेतावनी साफ लिखी होती है। शराब पीने से लीवर पर दबाव पड़ता है जिससे वह दवाइयों को तोड़ने में असमर्थ हो जाता है। इसके कारण नींद भी आ सकती है और अगर लीवर को कड़ी मेहनत करनी पड़ती है तो लीवर को नुकसान भी हो सकता है।

    शराब के सेवन न करें
  • 3

    दवाओं के साथ केला और मुलेठी न खायें

    केले के साथ ब्‍लड प्रेशर की दवा लेने से नुकसान हो सकता है। केले में पौटेशियम की मात्रा अधिक होने के कारण ब्‍लड प्रेशर की दवा खाने वाले लोगों में पोटैशियम की मात्रा बढ़ जाती है, जिससे उनकी दिल की धड़कन और घबराइहट बढ़ जाती है। इसलिए ब्‍लड प्रेशर की दवा के साथ केले का सेवन नहीं करना चाहिए। इसके अलावा दिल की दवाओं के साथ मुलेठी का सेवन नही करना चाहिए। मुलेठी की जड़ें शरीर में पोटैशियम की मात्रा को घटाती हैं, जो कि हृदय रोगों के लिए खतरनाक है। शरीर में कम पोटैशियम की वजह से हार्ट फेलियर और दिल की लय का असामान्य रूप से बढ़ना और घटना लगा रह सकता है।

    दवाओं के साथ केला और मुलेठी न खायें
  • 4

    हरी पत्‍तेदार सब्जियों का सेवन

    अगर आप एंटीकोअगुलांट्स (anticoagulants) यानी ब्‍लड को पतला करने वाली दवा का सेवन करते हैं तो हरी पत्‍तेदार सब्जियों के सेवन से बचें। क्‍योंकि हरी-पत्‍तेदार सब्‍जियों में विटामिन ‘के’ होता है जिससे ब्‍लड जमने लगता है। वारफ़रिन नामक दवा विटामिन ‘के’ से बचाने का काम करती है, लेकिन अगर आप दवा खाने के तुरंत बाद हरी सब्‍जियां खाते हैं तो दवा अपना काम करना बंद कर देती है।

    हरी पत्‍तेदार सब्जियों का सेवन
  • 5

    कफ सीरप के साथ विटामिन सी युक्‍त आहार न लें

    कफ सीरप के साथ विटामिन सी युक्‍त आहार से बचना चाहिए। क्‍योंकि दवा के साथ संतरे का जूस लेने से मतिभ्रम या चक्‍कर आ सकते हैं। फल का असर आपके शरीर में 24 घंटों तक बना रहता है, इसलिये कफ सीरप के सेवन के द्वारा नींबू या संतरे के सेवन से दूर रहें।

    कफ सीरप के साथ विटामिन सी युक्‍त आहार न लें
  • 6

    दूध ओर कॉफी के साथ दवाओं के सेवन से बचें

    अगर आप एंटीबायोटिक दवाएं खाते हैं तो दूध ना पियें। दवा के साथ दूध पीने से यह दवाइयां शरीर में ठीक प्रकार से घुल नहीं पाती और इनके साइड इफेक्‍ट भी देखने को मिलते हैं। इसलिए दवाइयों को खाना खाने के एक घंटे पहले या खाना खाने के दो घंटे के बाद पानी के साथ लेना चाहिए। इसके अलावा अस्‍थमा की दवा के साथ कॉफी के सेवन से बचना चाहिए क्‍योंकि दवा को कॉफी के साथ लेने से घबराहट, उत्‍तेजना और धड़कन बढ़ जाती है।

Source: onlymyhealth

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post: