माइग्रेन के दर्द से पाएं मुक्ति

Loading...

माइग्रेन का दर्द एक प्रकार का सिरदर्द ही होता है जो स्वेच्छा से कभी भी शुरू हो जाता है और कभी भी समाप्त हो जाता है। इस बीमारी में सिर का एक हिस्सा प्रभावित होता है। आमतौर पर यह धीरे धीरे शुरू होता है और शारीरिक गतिविधि के साथ बढ़ता है। माइग्रेन के दर्द से जल्दी छुटकारा नही मिलता और इसका कोई असरदार इलाज नही है लेकिन कुछ ऐसे उपाय हैं जो माइग्रेन के दर्द में बहुत ही उपयोगी है।हरी सब्ज़ियाँ – हरी पत्तेदार सब्ज़ियों का सेवन करें। हरी सब्ज़ियों में मैग्नीशियम नामक रसायन बहुत ही अधिक मात्रा में होता है। साबर अनाज , समुंद्री जीव ओर गेहूँ जैसे खाद्य पदार्थों में मैग्नीशियम बहुत ही अधिक मात्रा में होता है।

Migraine-home-remedy

बाजरा -बाजरे से बनी चीज़ों का सेवन करें। बाज़रे में फाइबर , एंटीऑक्सीडेंट इत्यादि बहुत ही अधिक मात्रा में पाये जाते हैं जो माइग्रेन के दर्द से रहत दिलाते हैं।

मछली – मछली का सेवन करें। मछली में ओमेगा 3 फैटी एसिड पाया जाता है साथ ही साथ बहुत से विटामिन्स भी पाये जाते हैं जो माइग्रेन के दर्द में बहुत ही उपयोगी होते हैं ।

कॉफी – कॉफी के प्रयोग से भी माइग्रेन के दर्द से राहत पायी जा सकती है। कॉफ़ी सिरदर्द में बहुत ही जल्द राहत पहुँचाती है। कॉफ़ी के कारण माइग्रेन में होने वाली सनसनाहट से जल्द ही आराम मिलता है ।

दूध – जब सिर की कोशिकाएं कमज़ोर हो जाती है तब माइग्रेन का दर्द बढ़ता है । परन्तु यदि आप वसा रहित दूध या उससे बनी चीज़ों का सेवन करते हैं तो इन कोशिकाओं को ऊर्जा मिलती है क्यूंकि दूध में विटामिन B जिसे राइबोफ्लेविन भी कहते है वह मौजूद होता है जो कोशिकाओं को मजबूती प्रदान करता है ।

संतरा – संतरा एक साइट्रस फ्रूट होता है इसमें विटामिन C बहुत ही अधिक मात्रा में पाया जाता है जिसके कारण शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है । संतरे का सेवन रोज़ करने से माइग्रेन के दर्द को काबू किया जा सकता है। इसके अलावा संतरा खाने से खासी ज़ुकाम जैसी बीमारियां आपको छू भी नही पाती ।

अलसी का बीज – यह बीज भी ओमेगा 3 फैटी एसिड से भरपूर होता है जिसके कारण यह माइग्रेन के दर्द से आराम दिलाने में सफल है।

Source: dailyayurvedatips

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post: