महिलायें रखे अपने दिल का ख्याल

Loading...
महिलायो में दिल की बीमारी कब लग जाती है, उन्हें यह पता ही नहीं चलता। महिलाये दिल के रोग के लक्षणों को नज़रअंदाज़ कर देती है जिससे बाद में उन्हें कई तकलीफो का सामना करना पड़ता है।उन्हें अपने दिल के प्रति सतर्क रहना चाहिए।

Mahilao Mein Heart Diseases

महिलाओं को अपने हार्ट के प्रति अधिक सजग रहना चाहिए

  • महिलायें अधिकतर घबराहट या हार्ट रोगों के सूचक चिह्नों को नज़रअंदाज़ कर देती हैं व बहुत कम ही चिकित्सक से सलाह लेती हैं।
  • अगर कभी वे परामर्श लेती भी हैं तो लक्ष्णों में थोड़ा आराम मिलने पर तुरन्त इलाज बन्द कर देती हैं।

शोध में कामकाजी व घरेलू महिलाओं में हार्ट रोगों के प्रति जागरूकता व हार्ट रोग के ख़तरे के बारे में चैंकाने वाला फैक्ट सामने आये है।

  • 81 प्रतिशत चिकित्सकों ने माना कि कामकाजी महिलायें अपने हार्ट के स्वास्थ के प्रति जागरूक हैं।
  • अधिकांश चिकित्सकों ने यह भी कहा कि कामकाजी महिलाओं में हार्ट रोग की सम्भावनाएं अधिक हैं। क्योंकि कामकाजी महिलायें कार्य व घर की जि़म्मेदारियों दोनों के बीच तालमेल बैठाती हैं इस वजह से वे तनाव और अस्वास्थकारी जीवनशैली के प्रति अधिक खुली हैं।
  • घरेलू महिलाओं की अपेक्षा कामकाजी महिलाओं में हार्टप्रणाली रोगों के होने का खतरा भी अधिक है।
  • घर के काम के बोझ व खुद की देखभाल की कमी के चलते घरेलू महिलाओं में इस खतरे को कम नहीं आंका जा सकता है।

Source: healthindian

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post: