करीना की डाइटिशियन के इन सुझाव से 1 हफ्ते में ही कम हो जाएगा वजन

Loading...

अक्सर लोग अपने मोटापे से काफी परेशान रहते हैं। वह अपना वजन कम भी करना चाहते हैं। जिसकी लिए वह डाईटिंग करना शुरु कर देते हैं। डाइटिंग के चक्कर में लोग अक्सर ताकत की चीजें भी खाना छोड़ देते हैं। ऐसे में जरूरी है कि हम किसी डाइटिशियन से सलाह लेकर ही डाइटिंग करनी चाहिए। तो आइए रुजुता दिवाकर डाइटिशियन जो कि करीना कपूर और बहुत से सेलिब्रिटी को टिप्स देती हैं, से जानते हैं खाने से जुड़े कुछ सुझाव…

करीना की डाइटिशियन के इन सुझाव से 1 हफ्ते में ही कम हो जाएगा वजन

1. घी जरूर खाएं : रोजाना के खानपान में घी जरूर शामिल करना चाहिए। घी की मात्रा कितनी हो, यह व्यंजन पर निर्भर है। घी कॉलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करता है।
2. नियमित चावल खाएं :  रोजाना के खानपान में सफेद चावल ज्यादा बेहतर हैं। ब्राउन राइस पकाने के लिए कुकर की 5-6 सीटी लगानी पड़ती है, ऐसे में पेट के लिए यह कितना मुश्किल होता होगा।  चावल में प्रचुर मिनरल्स हैं, इसलिए आहार में जरूर शामिल करें। चावल-चपाती मिलाकर खा सकते हैं, या सिर्फ चावल खा सकते हैं।
3. जूस नहीं, फल : जब तक मुंह में दांत हैं, जूस क्या पीना। फल और सब्जियां चबाकर खाएं। गन्ने रियल डीटॉक्स (हानिकारक पदार्थ निकालने वाले) हैं।
4. परंपरागत खाना खाएं : पिज्जा, पाश्ता, ब्रेड, बिस्कुट, केक न खाएं। अपने आप से पूछें, क्या ये चीजें नानी-दादी खाती थीं, अगर हां तो फिर बेझिझक खाएं। डिब्बाबंद खाने से परहेज करें। मौसम के हिसाब से पकौड़े, फाफड़ा, जलेबी खा
सकते हैं।
5. ग्रीन टी की जरूरत नहीं : ग्रीन, पर्पल, यलो या फिर ब्लू चाय की जरूरत नहीं है। सुबह खाली पेट या फिर जब भूख लगी हो तो चाय न लें। वैसे दिन में 2-3 बार चीनी के साथ चाय ले सकते हैं।
6. नाश्ते में परंपरागत व्यंजन : ओट्स या फिर कोई और पैकेज्ड फूड नाश्ते में न लें। ये स्वादहीन और बोरिंग हैं, जो कि दिन की शुरुआत के लिए बेहतर नहीं। नाश्ते में पोहा, उपमा, इडली, डोसा, परांठे ले सकते हैं।
7. लोकल फल खाएं : केले, चीकू, आम, अंगूर, सेब जो भी आसपास मौजूद हों, उसे आहार में शामिल करें। सभी में शर्करा मौजूद है, ऐसे में फर्क नहीं पड़ता कि आम खा रहे हैं या सेब।
8. रिफाइंड से बेहतर कच्ची घानी : चकाचक पैकेजिंग वाले ऑलिव ऑयल या फिर चावल के भूसे के तेल इस्तेमाल न करें। वनस्पति तेल की जगह बीज वाले तेल खाने में प्रयोग करें, इनमें मूंगफली, सरसों, नारियल या फिर तिल का तेल हो सकता है। रिफाइंड से बेहतर कच्ची घानी है।
9. कैलोरी नहीं, पोषक तत्व : खानपान में कैलोरी देखने की जगह पोषक तत्व को देखें। भूख जितनी हो, उतना खाएं।
10. एक्सरसाइज और सैर : खुद को स्वस्थ रखने और पाचन को बेहतर बनाए रखने के लिए एक्सरसाइज और सैर करें।
(सेहत से संबंधित कोई भी समस्या है तो अपने डॉक्टर की सलाह के मुताबिक ही आहार लें)

Source: navodayatimes

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post: