ऐसे बनेगी स्ट्रॉन्ग मेमोरी

Loading...
improve

जीवन का सफर जब अपने अंतिम पड़ाव पर पहुंचने लगता है तो व्यक्ति की याददाश्त आमतौर पर कमजोर होने लगती है। इस दौरान वह छोटी-छोटी बातों को भी भूलने लगता है। लेकिन वर्तमान समय में, हम सब जिस प्रकार की जीवनशैली व्यतीत कर रहे हैं, उसके चलते बेहद कम उम्र में भी चीजों को याद रखने में परेशानी होती है। कम समय में एक साथ बहुत सारे काम करना और गलत खान-पान कुछ ऐसे कारण हैं, जो हमारी याददाश्त पर विपरीत प्रभाव डालते हैं। लेकिन अगर आप चाहें तो अपनी मेमोरी को स्ट्रॉन्ग कर सकते हैं। बस जरूरत है तो कुछ छोटे-छोटे लेकिन कारगर कदम उठाने की-

कारणों को पहचानें
अगर आप अपनी याददाश्त को मजबूत बनाना चाहते हैं तो बेहतर होगा कि इसके कारणों पर काम करें। मसलन, आमतौर पर देखने में आता है कि काम के बढ़ते बोझ का सीधा असर मनुष्य की नींद लेने की क्षमता पर पड़ता है। इतना ही नहीं, नींद कम होने या ठीक से नींद न लेने से हमारी याद्दाश्त भी प्रभावित होती है। इसलिए इस उम्र में याद्दाश्त को मजबूत बनाए रखने के लिए अपनी नींद के साथ किसी प्रकार का समझौता न करें। याद रखें कि कोई भी तरक्की आपके स्वास्थ्य से बढ़कर नहीं है। इसके अतिरिक्त एक हेल्दी डाइट और हर दिन कोई न कोई फिजिकल एक्टिविटी अवश्य करें। शारीरिक रूप से व्यायाम करने से आपका तन-मन और दिमाग एकदम चुस्त-दुरुस्त रहता है।

खुद से करें सवाल
अकसर देखने में आता है कि जिन लोगों को भूलने की समस्या होती है, वे उसे बेहद हल्के में लेते हैं। इस बात पर ध्यान नहीं देते हैं। वैसे तो चीजें भूलना एक आम बात है, लेकिन कभी-कभी स्थिति बहुत बिगड़ भी सकती है। इसलिए हमेशा खुद को चेक करते रहें। स्वयं का आकलन करने का एक बेहतरीन तरीका यह है कि आप स्वयं से सवाल करें कि क्या आप बेहद जरूरी काम या फाइल अब हर दिन भूलने लगे हैं? अगर आपको इसका जवाब हां में मिलता है तो इसका अर्थ यह है कि अब आपको सतर्क होने की आवश्यकता है। इसके अतिरिक्त एक डायरी मेंटेन करें। इससे आपको अपना आकलन करने में काफी आसानी होगी।

खेलें दिमागी खेल
अपनी याद्दाश्त को मजबूत बनाने के लिए दिमाग की एक्सरसाइज करनी भी बेहद जरूरी है। इसके लिए ब्रेन गेम खेलने से बेहतर दूसरा कोई तरीका नहीं हो सकता। ब्रेन गेम आपकी दिनचर्या को एक नया आयाम देते हैं और आपके दिमाग को काम के प्रेशर से थोड़ा आराम मिलता है। पजल गेम्स, सुडोकु, क्रॉस वर्ड, चेस, कलरफुल रिबिकस क्यूब गेम में से कोई भी आप रोज कुछ देर खेल सकते हैं। इससे ब्रेन एक्टिविटी बढ़ती है।

रहें नेचर के करीब
शायद आपको पता न हो लेकिन प्रकृति के साथ गुजारे गए आपके कुछ क्षण आपके दिमाग को तरोताजा कर देते हैं। इसलिए अपनी याद्दाश्त को मजबूत बनाए रखने के लिए कुछ पल प्रकृति के साथ अवश्य बिताएं। आप चाहें तो कुछ देर पार्क में टहल सकते हैं। सबसे बढ़िया होगा कि सुबह के समय आप हरे-भरे पार्क या गार्डन में कुछ देर वॉक कर लें। वैसे लाफ्टर थेरेपी भी आपकी याद्दाश्त को बेहतर बनाने का एक अच्छा तरीका है।

Source: haribhoomi

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post: