कूकर खांसी यानि काली खांसी में असरकारक है ये मसाले

Loading...
कूकर खांसी यानि काली खांसी में असरकारक है ये मसाले

सामान्य सी खासी होने पर ही हम उससे बेहद परेशान हो जाते है। खासी का होना इस बात पर निर्भर करता है कि इसके लगनें की वजह क्या है, कभी कभी यह मात्र सर्दी जुकाम से भी लग जाती है। हमारे द्वारा ज्यादा ठंडा खानें पर या किसी भी प्रकार की चिकनाहट की मात्रा अधिक लेनें पर यह ओर भी ज्यादा घातक हो जाती है।

लेकिन अगर बात करे काली खांसी या कूकर खांसी की तो यह एक भंयकर और संक्रामक बीमारी है। यह बीमारी अक्सर बच्चों के साथ बड़ों को भी हो सकती है। इसके फैलनें का कारण मुख्य हवा होती है।

जो हवा के जरिए एक इंसान से दूसरे इंसान तक फैलती है। काली खांसी होने से पहले शरीर को हल्का सा बुखार आता है और फिर खांसी तेजी से बढ़ती चली जाती है। काली खांसी रात और दिन में बहुत ही तेज होती है। इसके अलावा इस रोग के मुख्य लक्षण हैं जैसे खांसने पर हूप-हूप की आवाज का आना जिस तरह कुकर करता है, उल्टी आना, आंखों का लाल होना आदि।

लेकिन इसके नियमित घरेलु उपचार द्नारा इसे दूर किया जा सकता है। तो आइए जानते है काली खांसी का घरेलु उपचार में काम में आने वाले इन मसालों के बारे में। जो आपके लिए बेहद आरामदायक साबित हो सकते है।

काली मिर्च और तुलसी है रामबाण-

काली मिर्च और तुलसी के पत्तों को बराबर मात्रा में पीस लें और इनकी छोटी-छोटी गोलियां बना लें। और एक-एक गोली का सेवन दिन में तीन बार करने से काली खांसी ठीक हो जाती है। यह उपाय आप कुछ दिनों तक लगातार करें। इसका असर आपको जल्द ही देखनें को मिलेगा।

बादाम

रात को चार से पांच बादामों को पानी में भिगो लें और सुबह इन बादामों को छील लें और इसे लहसुन की एक कली और मिश्री के साथ पीसकर इसका सेवन कुछ दिनों तक लगातार करने से आपको कुकुर खांसी से छुटकारा मिल जाएगा।
लहसुन का इस्तेमाल

लहसुन

– काली खांसी से बचने के लिए लहसुन के रस की चार से पांच बूदें, शहद की पांच बूदें एक कप पानी में मिलाकर दिन में तीन से चार बारी लेने से आपको काली खांसी से आराम मिल जाएगा।

– इसके अलावा लंबे समय से चले आ रहे इन देसी इलाजो में लहसुन से बनी हुई माला को पहनने से भी काली खांसी मे बहुत आराम मिलता है।

– लहसुन के तेल से मालिश करने से कुकुर खांसी में आराम मिलता है।

लौंग का प्रयोग

लौंग की तासीर गरम होती है। इसमें वो सारे गुण होते है जो खांसी को दूर करनें के लिए पर्याप्त होते है। लौंग के एक जोड़े को आग में भून लें और इसे शहद के साथ मिलाकर सुबह और शाम ले। इस उपाय से कूकर खांसी ठीक हो जाती है।

गन्ना और मूली का रस

काली खांसी को जड़ से खत्म करने के लिए कच्ची मूली का 60 ग्राम रस और 60 ग्राम रस गन्ने का सेवन करें। इस उपाय को नियमित कुछ दिनों तक करें।

फिटकरी

चनें के दानें के बराबर फिटकरी ले। याद रखें इससे अधिक मात्रा नहीं होनी चाहिए। इसे गर्म पानी के साथ दिन में तीन बारी लेते रहने से काली खांसी ठीक हो जाती है।

अमरूद

अमरूद आपको कुकर खांसी से आराम दे सकता है। राख में अमरूद को अच्छी तरह से सेंक लें। और इसका सेवन दो बार सुबह और शाम करें। इस उपाय को भी नियमित करने से आपको कुकर खांसी से निजात मिलेगा।

Source: samacharjagat

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

 

Loading...

Next post:

Previous post: