नए जूते से पैर कट जाए तो ये घरेलू तरीके आराम दिलाने में बहुत काम आएंगे

Loading...

नए जूते पहनने पर अक्सर कट जाते हैं पैर

नए जूते पहनने के बाद अक्सर ऐसा होता है कि पैर कट जाते हैं. एक ओर जहां नया जूता पहनने की खुशी होती है वहीं पैर कट जाने पर ये खुशी तकलीफ में बदल जाती है. नए जूते या चप्पल से पैर कटने के बाद आप इस स्थिति में नहीं रह जाते हैं कि कोई भी दूसरा फुटवियर पहन सकें.आमतौर पर जब जूते बहुत अधिक टाइट होते हैं तो त्वचा से रगड़ खाने लगते हैं और इस रगड़ के ही कारण या तो छाले उभर आते हैं या फिर उस जगह पर सूजन हो जाती है. ये घाव चलने और खड़े होने के दौरान सबसे ज्यादा तकलीफ देते हैं. पंजे की तरफ से जो जूते, चप्पल या सैंडल चौड़ाई में कम होते हैं, उन फुटवियर में यह तकलीफ होने की आशंका सबसे ज्यादा होती है.

इस तकलीफ से बचने के लिए सबसे पहले तो आप इस तरह के किसी भी फुटवियर को खरीदने से परहेज करें जिसे पहनकर आप आरामदायक महसूस नहीं कर रहे हों.

बावजूद इसके अगर नए फुटवियर से आपके पैर कट गए हैं, तो सबसे पहले उस पर अच्छी क्वालिटी की एंटीसेप्ट‍िक क्रीम लगा लें. इसके अलावा इन घरेलू उपायों से भी आप नए फुटवियर से मिले घावों को ठीक कर सकते हैं.

1. नारियल तेल के इस्तेमाल से भी दूर की जा सकती है ये समस्या
फुटवियर से पैर कट जाने पर नारियल तेल का इस्तेमाल करना बहुत फायदेमंद होता है. ये घाव को मॉइश्चराइज करने के साथ ही जलन को भी कम करता है. इसके अलावा नारियल तेल लगाने से घाव भी जल्दी भरता है. अगर आपके पास नारियल की पत्तियां हैं तो उन्हें जला लें और उसकी राख को नारियल तेल में मिलाकर घाव पर लगाएं. ऐसा करने से घाव जल्दी भरने के साथ ही दाग भी नहीं छोड़ेगा.

2. शहद का इस्तेमाल करना भी है फायदेमंद
नए जूतों से जब पैर कट जाए तो शहद का इस्तेमाल भी बहुत फायदेमंद रहता है. शहद में घाव को भरने का गुण होता है. यह जलन और दर्द को भी दूर करने में बहुत फायदेमंद होता है. शहद के इस्तेमाल से दाग बनने की आशंका भी कम हो जाती है. आप चाहें तो शहद को जैतून के तेल में मिलाकर घाव पर लगा सकते हैं.

3. चावल का आटा भी इस तकलीफ में है बहुत फायदेमंद
यूं तो चावल के आटे का इस्तेमाल कई तरह के व्यंजनों को बनाने में किया जाता है लेकिन कम ही लोगों को पता होगा कि इसके इस्तेमाल से घाव भी ठीक किया जा सकता है. यह डेड स्क‍िन को साफ करने में बहुत कारगर होता है. चावल के आटे को जरूरत के अनुसार पानी में मिलाकर एक पेस्ट तैयार कर लें. इसे प्रभावित जगह पर लगाएं और जब यह कुछ देर बाद सूख जाए तो हल्के गुनगुने पानी से इसे साफ कर दें. सप्ताह में दो से तीन बार ऐसा करने पर घाव का निशान दूर हो जाएगा.

4. एलोवेरा भी बहुत गुणकारी
घाव लगने के बाद जलन को शांत करने के लिए एलोवेरा का इस्तेमाल किया जाता है. साथ ही इसमें मौजूद कई गुणकारी तत्व घाव को भरने में भी बहुत मददगार होते हैं.

Source: aajtak

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post: