जानिए मुंह के छालों से बचाव के घरेलू नुस्खे

Loading...

 

मुंह के अंदर की सतह के किसी भी तरह से कटने या उसके ऊपर कोई फोड़ा निकलने से अल्सर या छाला हो जाता है। मुंह का अल्सर होने पर व्यक्ति का मुंह तथा जीभ प्रभावित हो जाते हैं जिससे व्यक्ति को कुछ भी खाने या पीने में परेशानी होती है।

Mouth Ulcer

1. नारियल का दूध (Coconut milk)- नारियल का दूध मुंह के अल्सर में दर्द से राहत देता है साथ ही जलन को दूर करता है। उपचार के लिए एक चम्मच नारियल के दूध में थोड़ा सा शहद मिलाकर अल्सर के ऊपर लगाएं। इस उपाय को दिन में तीन से चार बार करें। इसके अलावा नारियल के दूध से कुल्ला करने पर भी आराम मिलता है।

2. धनिया के बीज (Coriander seed)- धनिया के बीज भी मुंह के अल्सर से राहत देते हैं। अल्सर से होने वाली जलन को भी दूर करते हैं। उपचार के लिए पानी में धनिया के बीज डालकर उबालें और इस पानी को छानकर अलग रखें। इस पानी को मुंह में घुमा घुमा कर कुल्ला करें। इस उपाय को भी दिन भर में तीन से चार बार करें।

3. बेकिंग सोडा (Baking soda)- बेकिंग सोडा या सोडियम बाई कार्बोनेट भी मुंह के अल्सर से निजात दिला सकता है। एसिडिक खाने- पीने से होने वाले अल्सर में यह बेहद लाभकारी है। उपचार के लिए एक छोटी चम्मच बेकिंग पाउडर में पानी मिलाकर पेस्ट तैयार करें और प्रभावित स्थान पर लगाएं।

4. शहद (Honey)- मुंह के अल्सर से राहत देने में शहद भी बेहद प्रभावी है। शहद में एंटी ऑक्सीडेंट और एंटी माइक्रोबल गुण होते हैं। उपचार के लिए रूई के फाहे को शहद में डुबाकर, प्रभावित स्थान पर लगाएं। इसी तरह ग्लिसरीन और विटामिन ई तेल को भी लगाया जा सकता है।

5. एलोवेरा (Aloevera)- एलोवेरा का रस, प्रभावित स्थान पर लगाने से अल्सर से होने वाले दर्द से राहत मिलती है। एलोवेरा प्राकृतिक एंटीसेप्टिक की तरह कार्य करता है जिससे छाले जल्दी ठीक होते हैं।

6. धनिया पत्ती (Coriander leaves)- धनिया पत्ती को कच्चा चबाने से मुंह के अल्सर से राहत मिलती है। धनिया पत्ती में फ़ॉलिक एसिड के साथ विटामिन बी 1, बी 2, बी 6 और विटामिन सी पाया जाता है। धनिया पत्ती को डंडी के साथ लगभग 10 मिनट तक चबाना चाहिए। इसके प्रयोग से मुंह से आने वाली दुर्गंध से भी राहत मिलती है।

7. तुलसी (Basil)- तुलसी में एंटी वायरल, एंटी बैक्टीरियल और एंटी फंगल गुण पाए जाते हैं। उपचार के लिए 5 से 6 तुलसी की पत्तियों को धोकर अच्छी प्रकार चबाकर खाएं और उसके बाद थोड़ा पानी पी लें। इस उपाय को दिन में दो बार, सुबह और शाम करें।

8. बर्फ (Ice)- बर्फ, अल्सर के कारण मुंह में होने वाले दर्द से राहत देती है। बर्फ को प्रभावित स्थान पर लगाने से, संबंधित जगह थोड़ी देर के लिए सुन्न पड़ जाती है जिससे अल्सर से होने वाली जलन और दर्द से राहत मिलती है।

Source: raftaar

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post: