घमौरियों से परेशान है तो अपनाए ये आसान घरेलू उपचार

Loading...

गर्मियों के दिन आते ही अधिकतर लोग घमौरी से परेशान हो जाते है| इनमे खुजली होने के साथ हलकी सी चुभन भी होती है| यह एक प्रकार का चर्मरोग है। जो गर्मियों के अतिरिक्त बरसात के दिनों में भी व्यक्तियों की त्वचा पर हो जाता है।

घमौरियों को अंग्रेजी में Miliaria कहा जाता है| यह अक्सर हमारी पीठ, छाती, बगल एवं कमर के आसपास होती है। इसके पीछे का कारण पसीना है| अक्सर पसीने की ग्रन्थियों का मुंह बन्द होने के कारण हमारे शरीर पर छोटे-छोटे लाल दाने निकल आते है| इन्हे ही घमौरियां कहा जाता है| इन दानों में खुजली व जलन भी होती है।

यह रोग अधिक गर्मी के कारण और साथ ही शरीर की ठीक प्रकार से सफाई न होने के कारणवश होता है। इसके अतिरिक्त यदि किसी व्यक्ति को कब्ज बना हुआ हो तब भी यह रोग हो सकता है| कुछ लोग इसे ठीक करने के लिए साधारण पाउडर का इस्तेमाल करते है| लेकिन हम सभी जानते है की साधारण पाउडर से इसका ठीक होना मुश्किल है|

लेकिन इसके लिए आपको डॉक्टर के पास जाने की भी जरुरत नहीं है| आप घर पर ही उसका उपचार कर सकते है| यहाँ जानिए कुछGhamori Treatment in Hindi.

Ghamori Treatment in Hindi: जानिए घमौरियों से राहत पाने के उपाय

Ghamori Treatment in Hindi
घमौरियाँ होने पर जलन और बेचैनी बनी रहती है| यदि यह लगातार बनी रहे तो शरीर अस्वथ्य होने लगता है। इसलिए इसे छोटी मोटी परेशानी समझकर अनदेखा नही करना चाहिए और और समय रहते ही इसका इलाज करना चाहिए। इन्हे ठीक करने के लिए घरेलू उपचारों से बेहतर कुछ नहीं है| यहाँ जानिए कुछ फायदेमंद Home Remedies for Ghamori:-

नीम की पत्तियों से स्नान

नीम की पत्तियों में एंटीबायोटिक गुण होता है| इसका प्रयोग करने के लिए एक बर्तन में पानी भरकर उसमें नीम की पत्तियां डालकर उबाले| फिर इस पानी को गुनगुना करके स्नान कर ले| नीम के पानी से प्रतिदिन दिन में 2 बार स्नान करने से घमौरियां ठीक हो जाती हैं।

फलों के रस का सेवन

शरीर में गर्मी बड़ जाने के कारण घमोरियां होने लगती है| शरीर को गर्मी से बचाने के लिए ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थो का सेवन करना चाहिए| घमौरियों को ठीक करने के लिए रोगी को फलों का रस घर में निकालकर ज्यादा से ज्यादा पीना चाहिए| इसके अतिरिक्त किशमिश, अंगूर इत्यादि का नियमित सेवन करने से भी आपकी त्वचा में निकली घमौरियों में बहुत ही जल्दी लाभ मिलता है|

मुल्तानी मिट्टी का लेप

मुल्तानी मिट्टी की मदद से भी इसका उपचार कर सकते है| इसके लिए मुल्तानी मिट्टी को पानी में मिलाकर इसका पेस्ट तैयार कर ले| फिर इस पेस्ट को शरीर पर लगा ले और कुछ देर रखने के बाद फिर स्नान कर ले| इससे आपको गर्मी के कारण होने वाली जलन से भी छुटकारा मिल जायेगा| कई लोगो को मुल्तानी मिटटी सूट नहीं करती हो| इसलिए इसका भी प्रयोग करने से पहले इसे हथेली पर लगाकर टेस्ट कर ले|

त्वचा के लिए फायदेमंद एलोवेरा

हम सभी जानते है की एलोवेरा त्वचा की कई परेशानियों को दूर करने में फायदेमंद होता है| यह घमोरियों को ठीक करने के लिए अच्छा विकल्प है| इसकी मदद से घमोरियां का उपचार करने के लिए ताजे एलोवेरा का गुदा निकाल ले और इसे लगाए| आधे घंटे लगे रहने दे, फिर पानी से धो ले|

गुलाब के फूल

गुलाब की पंखड़ियों से भी आप घमोरियों से निजात पा सकते है| इसके लिए गुलाब के फूलों का तेल लगभग 12 मिली, थोड़ा सा कपूर, तीन ग्राम फिटकरी आदि मिला ले| फिर इन सबको मिलाकर पेस्ट बना ले| आपको फायदा मिलेगा|

बचाव के तरीके इन्हे भी जानिए:-

  1. घमोरियों वाली जगह पर आर्टिफिशियल ज्वेलरी न पहने|
  2. घमौरियां होने पर ज्यादा फिटिंग वाले कपडे ना पहने, ढीले और कॉटन के कपड़ो का चयन करे|
  3. गरम और तेज मिर्च-मसाले युक्त भोजन से दूर रहे और जितना हो सके शरीर को ठंडक पहुंचाने वाले पेय का सेवन करे|
  4. चन्दन का पेस्ट भी आपको ठंडक देने में मदद करेगा| इसके अतिरिक्त शरीर पर बर्फ रगड़े|
  5. अत्यधिक धूप में न निकलें| बहुत जरुरी होने पर शरीर को स्कार्फ़ या समर कोट की मदद से अच्छे से ढके| कोई भी हिस्सा खुला ना रखे| ‘
  6. घमौरियों का उपचार करने के लिए रोगी व्यक्ति को रात के समय में अपने पेड़ू पर गीली मिट्टी की गर्म पट्टी बांधनी चाहिए। यह घमौरियां ठीक करने का आयुर्वदिक तरीका है|

ऊपर आपने जाना Ghamori Treatment in Hindi. यदि आप भी घमोरियों से निजात पाना चाहते है तो ऊपर दिए गए उपचारों को अपनाए| अपने शरीर को साफ़ सुथरा रखने के लिए नियमित ठन्डे पानी से स्नान करे|

Source: hrelate

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post: