पेट फूलने के इलाज के लिये शीर्ष सुझाव

Loading...
%image_alt%

जब पेट का व्यास अपने सामान्य आकार से अधिक बढ़ जाये और असहज और तंग महसूस कराये तो यह पेट फूलना कहा जाता है। इसे पेट की सूजन के नाम से भी जाना जाता है। यह बहुत ही सामान्य समस्या गलत खाद्य आदतों या जीवन शैली आदि के कारण हो सकता है। अगर पेट फूलने की समस्या से पीड़ित है तो इसे हटाने के लिये कुछ साधारण उपायों को अपना सकते हैं।

पेट फूलने की समस्या से छुटकारा पाने के लिये सलाह

पोटैशियम आधारित खाद्य

पोटैशियम में शरीर में तरलता को संतुलित करने का गुण होता है जो फूलने की समस्या को दूर रखता है। पोटैशियम खाद्यों में शामिल है केला, टमाटर, पालक, आम और नट आदि। ये पोटैशियम आधारित खाद्य शरीर में उपस्थित अतिरिक्त पानी को निकाल देगा जिसके द्वारा आप पेट फूलने से आराम पा सकते हैं।

हवा की पर्याप्त मात्रा निगल नहीं

जानबूझकर या अनजाने में हम हवा की बहुत सारी मात्रा को हम निगलते हैं, यह भी पेट फूलने के लिये एक कारण हो सकता है। इसलिये, धूम्रपान, जूस पीने, बबल गम चबाने और खाना खाते समय बात करने की आदत को जांचें।

स्टार्च खाद्य को सीमित मात्रा में लें या बचें

पेट फूलने के मुख्य कारण में से एक स्टार्च खाद्य भी है। स्टार्च शामिल खाद्य जैसे नूडल्स, सफेद ब्रेड, पेस्ट्री, केक, पास्ता आदि को सीमित या से बचने की कोशिश करें।

शारीरिक व्यायाम को अपनायें

प्रतिदिन शारीरिक व्यायाम को करना शरीर में गतिविधि के द्वारा आपके पेट के पाचन को बढ़ाता है। आठ घंटे के लिये सोना शरीर के स्वास्थ्य की आवश्यकता भी है।

मसालेदार खाद्य से बचें

मसालेदार खाद्य से बचने की कोशिश करें जो परेशानी या आपके पेट फूलने की समस्या का कारण हो सकता है। अगर किसी व्यक्ति को पेट फूलने की समस्या है तो कुछ मसालेदार खाद्यों से बचें जैसे काली मिर्च, सिरका, मिर्च पाउडर, सरसों, मूली, प्याज, लहसुन।

मालिश

गैस को बाहर को निकालने के लिये पेड़ू पर जठरांत्र की दिशा में मालिश करें, अपनी उंगलियो से ठीक कूल्हे के पास दबायें।

चबाने से सावधान

अपने भोजन को अधिक से अधिक बार चबायें, भोजन को जल्दी जल्दी बिना चबायें निगलना पेट फूलने का कारण हो सकता है। भोजन जो पचा नहीं है बड़ी आंत से गुजरते समय बैक्टीरिया द्वारा मारा जा सकता है, यह प्रक्रिया गैस को छोड़ती है और पेट को फूलने को प्रोत्साहन देती है।

फाइबर को चुनें

फूलना फाइबर की अत्यधिक उच्च मात्रा या निम्न मात्रा को लेने के कारण हो सकता है, इसलिये फूलने के अनुभव को कम करने के लिये फाइबर को अपने आहार में सीमित मात्रा में शामिल करें।

कब्ज

कब्ज पेट फूलने का मुख्य दोषी है, अपने आहार में फाइबर को अच्छी मात्रा में शामिल करना आपके पाचन तंत्र को नियमित करेगा, जो बदले में कब्ज से मुक्त करायेगा। उच्च फाइबर खाद्य है भूंसी आधारित अनाज, फलियां, सेम, मक्का, भूरा चावल, एवोकैडो, गेहूं, पास्ता, नाशपाती, आर्टीचोक्स, गेहूं की रोटी, फूल गोभी, सेब, मटर, रैस्पबेरी और बादाम।

अगर आपको कब्ज की समस्या नहीं है, तो फाइबर की उच्च मात्रा को न लें क्योंकि यह आपकी समस्या को बद्तर ही करेगा। जिन लोगों को पेट फूलने पर कब्ज की समस्या है उन्हें फाइबर की मात्रा को कम रखने की जरूरत है।

पकी सब्जियां

पकी सब्जियां, कच्ची सब्जियों की तुलना में आसानी से पच जाती हैं। पकाने की प्रक्रिया में कुछ फाइबर और एंजाइम बाहर निकल जाता है जो पेट को गड़बड़ करने और फूलने की समस्या का कारण हो सकता है।

Source: hinditips

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post: