गाँठ को ठीक करने के घरेलू नुस्खे

Loading...

%image_alt%

त्वचा पर जो सफ़ेद असामान्य से उभार निकल आते हैं वे ही सफ़ेद मुहाँसे/पिंपल्स कहते हैं जो की हारमोंस में असंतुलन, अनुचित आहार और अस्वस्थ जीवनशैली की वजह से होते हैं। मुहासे होने का कारण, यह दो प्रकार के होते हैं पहले प्राथमिक सफ़ेद मुहाँसे/पिंपल्स जो शरीर में तेल ग्रंथियों के असामान्य विकास के कारण होते हैं और दूसरे द्वितीय सफ़ेद मुहाँसे जो त्वचा में चोट लगने के कारण होते हैं। कभी कभी ये सूर्य के प्रकाश में ज्यादा आने की वजह से भी होते हैं।

सफ़ेद मुहाँसो को कम करने के उपाय (Remedies to reduce white pimples – pimple ka ilaj hindi me)

पेरोक्साइड (Peroxide)

मुहासे से छुटकारा, बेन्ज़ोय्ल पेरोक्साइड इन मुहाँसो के जीवाणुओं को ख़त्म करने के साथ मृत त्वचा को हटा कर नई त्वचा लाता है। इसकी 2.5% सांद्रता लगभग 5-10 % पानी में विलयन के बराबर होती है जो त्वचा पर लगाने के लिए एक सही अनुपात है।

चाय के पौधे का तेल (Tea tree oil)

यह मुहाँसे/पिंपल का आकार कम करने में कारगर है। एक ड्रॉपर की सहायता से कुछ बूँद मुहाँसे पर डालें। यह जीवाणुओं को बढ़ने से रोकने में सहायता करता है।

टूथपेस्ट (दंतमंजन) (Toothpaste)

अपने मुहाँसे पर थोडा सा सिलिका युक्त टूथपेस्ट लगा कर रात भर के लिए छोड़ दें यह मुहाँसे का आकार और उसकी लालिमा दोनों को कम कर देता है। ऐसे टूथपेस्ट का चयन न करें जिसमे सोडियम लौरेल सलफेट हो क्योंकि यह त्वचा में जलन पैदा करता है।

सेलीसायलिक एसिड (Salicylic acid)

चेहरे पर दाने के उपाय,यह बेन्ज़ोय्ल पेरोक्साइड जैसा ही काम करता है। इसे सोने से पहले थोड़ी मात्रा में मुहाँसे पर लगा दें और 8-9 घंटों के लिए छोड़ दें। यह मुहाँसे को ख़त्म कर नयी त्वचा के विकास में भी सहायता करता है।

एस्पिरिन (Aspirin)

कसैली/खट्टी चीज़ें (Astringents)इसके अज्वलनशील गुण त्वचा में जलन कम करते हैं। एक एस्पिरिन की टेबलेट लेकर उसका चूर्ण बना लें फिर थोडा पानी मिला कर इसका पेस्ट बना लें। मुहाँसे/पिंपल पर लगा कर इसे सूख जाने तक कुछ मिनट के लिए छोड़ दें और फिर पानी से धो लें। इस प्रक्रिया को सप्ताह में 2-3 बार करें।

प्राकृतिक रूप से इसमें नीबू का रस, हरी चाय, विच हेज़ल या केले के गूदे का उपयोग मुहाँसे की लालिमा को कम करने के लिए किया जाता है। नीबू में उपस्थित सिट्रिक अम्ल जीवाणुओ को बढ़ने नहीं देता है। प्राकृतिक कसैली चीजों के स्थान पर औषधीय कसैली चीजों का भी प्रयोग किया जा सकता है।

  1. चन्दन का पेस्ट (Sandalwood paste) भारत में पवित्र मौकों पर चन्दन का प्रयोग किया जाता है। इसका प्रभाव काफी अच्छा और शान्ति प्रदान करने वाला होता है। अगर आपको खूबसूरत और बेदाग़ त्वचा प्राप्त करनी है तो चन्दन का प्रयोग सबसे उत्तम होता है। सोने जाने से पहले चेहरे के प्रभावित भाग पर चन्दन के पेस्ट का प्रयोग करें। इसका प्राकृतिक प्रभाव आपके नींद में होने के दौरान अपना काम करता रहेगा। सुबह उठकर आप पाएंगे कि आपके चेहरे का मुहांसा गायब हो गया है।

2. ताज़े लहसुन का पेस्ट (kil muhase ka desi ilaj – Fresh garlic paste) जहां चन्दन का पेस्ट काफी बेहतरीन सुगंध प्रदान करता है, वहीँ यह बात लहसुन के पेस्ट के बारे में कही नहीं जा सकती। लेकिन इन दोनों में एक समानता यह है कि ये बैक्टीरियल संक्रमण (bacterial infections) को ख़त्म करने की क्षमता रखते हैं। लहसुन का पेस्ट मुहांसों पर काफी प्रभावी तरीके से काम करता है। अगर आप इसकी महक को बर्दाश्त कर सकें तो इसे रातभर के लिए अपनी त्वचा पर छोड़ दें। सुबह आपको यह देखकर आश्चर्य होगा कि मुहांसे गायब हो गए हैं। इसके बाद अपना चेहरा किसी चन्दन के साबुन से धो लें और इससे लहसुन की बदबू पूरी तरह दूर हो जाएगी। हालांकि अगर लहसुन की महक आपके आसपास के लोग बर्दाश्त नहीं कर पाते, तो इस उपाय का प्रयोग दिन में करने का प्रयास ना करें।

4. टमाटर का गूदा (Try tomato pulp) टमाटर का गूदा मुहांसों को दूर करने का काफी अच्छा आयुर्वेदिक उपचार है। ये एंटीऑक्सीडेंट्स (antioxidants) से भरपूर होते हैं, जिसकी मदद से आपके मुहांसों पर पल रहे जीवाणुओं का खात्मा मुमकिन होता है। कई घरेलू नुस्खों के अनुसार एक्ने (acne) के दाग धब्बे हटाने के लिए टमाटर के फेस पैक का प्रयोग करना चाहिए।

5. गर्म और ठन्डे पानी का उपचार (Warm and cold water treatment) यह मुहांसों को दूर करने का काफी अनोखा तरीका है। सबसे पहले इसके पीछे छिपे विज्ञान को समझें। त्वचा पर गर्म पानी के प्रयोग से रक्त की धमनियां और त्वचा के रोमछिद्र (pores) फ़ैल जाते हैं। ठन्डे पानी का चेहरे पर प्रयोग करने से प्रभावित भाग पर रक्त का संचार कम हो जाता है और सूजन कम होने लगती है। अगर आप रुई की मदद से थोड़ा सा गर्म पानी मुहांसों पर लगाएं तो मुहांसे फ़ैल सकते हैं, और इसके बाद आप इन्हें फोड़ सकते हैं।

गर्म और ठन्डे पानी का प्रयोग बारी बारी से करें क्योंकि लगातार गर्म पानी का प्रयोग परेशानी से भरा हो सकता है। ठंडक की अपेक्षा गर्माहट का ज़्यादा प्रयोग करें। एक बार खून और पस मुहांसों से निकल जाने के बाद चेहरे को एंटीसेप्टिक (antiseptic) साबुन से धो लें और बर्फ का प्रयोग करके बची हुई सूजन को कम करें। आप ग्रीन टी (green tea) को जमाकर रख सकते हैं और ज़्यादा फायदे के लिए इसका प्रयोग करें।

6. सरसों और शहद का मास्क (Mustard and honey mask) सरसों मुहांसों पर काफी अच्छे से काम करता है क्योंकि इसमें प्राकृतिक सैलिसिलिक एसिड (salicylic acid) होता है, और यह जिंक, ओमेगा 3 फैटी एसिड, ओमेगा 6 फैटी एसिड तथा विटामिन सी (zinc, Omega 3 fatty acid, Omega 6 fatty acid, and vitamin C) का भी काफी अच्छा स्त्रोत होता है। इस फेस पैक का एक और पदार्थ शहद भी एंटीऑक्सीडेंट्स से युक्त होता है। एक चम्मच शहद और 1/8 चम्मच सरसों के पाउडर को मिश्रित करके एक अच्छा मुहांसों का मास्क बनाएं।

7. सेब का सिरका (Apple cider Vinegar) यह बात काफी आश्चर्य में डालने वाली है कि किस तरह एक सामान्य तत्व आपके शरीर के इतने काम आ सकता है। इसके अन्य फायदों में मुहांसों से छुटकारा दिलाना भी काफी अहम होता है। रोज़ाना दो बार रुई के कपड़े की सहायता से अपने मुहांसों पर सेब के सिरके का प्रयोग करें।

8. मिट्टी के मास्क (muhase ka upchar – Clay mask) इस मास्क को बनाने के लिए मुल्तानी मिट्टी खरीदें। यह त्वचा के रोमछिद्रों को अंदर से साफ़ करता है और आपको मुहांसों से मुक्त करता है। और भी अच्छे परिणाम प्राप्त करने के लिए इसमें लैवेंडर के तेल (lavender oil) का भी मिश्रण किया जा सकता है।

बचाव (Precautions)

क्या आपको यह नहीं लगता कि मुहांसों का उपचार करने से अच्छा यह होगा कि मुहांसों की समस्या आपको सताए ही ना। कुछ सामान्य बचाव उपाय जैसे ज़्यादा तैलीय भोजन ना करना, कठोर सौंदर्य उत्पादों का प्रयोग ना करना, सोने से पहले मेकअप (makeup) उतारकर सोना और कहीं बाहर से घर आने के बाद फेस वाश (face wash) का प्रयोग करना आदि अपनाने से आपको मुहांसों की समस्या नहीं सताएगी।

Source: hinditips

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post: