खर्राटे दूर करने के लिए सबसे अच्छे सुझाव

Loading...

%image_alt%

खर्राटे की समस्या महिलाओ और वयस्क पुरुष दोनों में होती हैI40 % महिलाओ में यह समस्या होती है जबकि 30 % व्यस्क पुरुषो में यह समस्या होती है जो की बड़े पैमाने पर दुःख की बात है विशेष रूप से बुजुर्ग खर्राटो से कमजोर हो जाते है 84 वर्ष की आयु तक  पुरुषो को खर्राटे ज्यादा आते है है और 50 वर्ष की  आयु तक महिलाओ को खर्राटे ज्यादा  आते है खर्राटे सामाजिक निहितार्थ के अलावा महत्वपूर्ण पेशेवर चिकित्सा में शामिल हो सकते है इस दिशा निर्देशों के साथ अधिक नींद में मदद कर सकते हैI

करवट लेकर सोना

क्या आप तनावपूर्ण है या सोने के साथ साथ झूठ बोल रहे है तो खर्राटे होने का खतरा हो सकता है आप अगर पीठ के बल या सीधी अवस्था में सोते है तो खर्राटे आने की सम्भावना होती है लेकिन करवट लेकर सोने से खर्राटे होने का खतरा कम हो जाता हैI

शराब और धुम्रपान से दूर रहे

नींद की गोलियां जिनमे एल्कोहल होता है उसका सेवन करने से तनाव बढने का खतरा काफी हद तक बड जाता  है, इसके साथ ही आपके जबड़े की मांसपेशिया कड़ी हो जाती है जिससे खर्राटे की समस्या शुरू हो जाती है कभी कभी गोलियों में यह सामग्री खर्राटो को कम करने का भी काम करती है खर्राटे हृदय रोग से जुड़ा हुआ असुरक्षित मुद्दा है इसलिए किसी भी समय एक दुसरे के साथ कभी नही किया जाना चाहिए अगर आप गोलियों के साथ शराब का सेवन कर रहे है तो अपने चिकित्सक से इस बारे में चर्चा कर लेI

कम वज़न

अगर आपके शरीर का वज़न कम  है तो  सोने से विशेष रूप से गर्दन की मांसपेशियो पर दवाब की स्थिति बन जाती  है ,जिससे खर्राटे की समस्या हो जाती है आप इसका ध्यान रखे  तो निश्चित रूप इस समस्या को विफल किया जा सकता हैI

अपनी एलर्जी की प्रतिक्रिया की देखभाल के लिए ख़रीदे

अगर रोगियों को संभवतः दमा एलर्जी की प्रतिक्रिया हो रही है या वे सो रहे है और होंठो के माध्यम से हवा ले रहे है तो खर्राटे की समस्या बढ सकती है आपको इससे मदद मिलेगी अगर आप सोने से पहले एक antihistamine का उपयोग करेंगे और आपको खर्राटे नही आएगे |

मुहं रक्षण का इस्तेमाल

मुह को खुला रख कर सोने से भी खर्राटे की सम्भावना बढ़ जाती है  अगर आपके दन्त चिकित्सक ने संयुक्त रूप से दांतों को बरक़रार रखे हुए है, तो इनके ढीले होने से यह खर्राटो को दूर करने में सक्षम हो सकता हैI

एक विशिष्ट अनुसूची को बनाना

हर रोज सोने जाने का समय प्राप्त करे और  ज्यादा सोने का कारण पता करे जिससे आप खर्राटे आने का कारण पता कर सके और उसे दूर करने का प्रयास कर सकते हैi

अपना सिर उठा कर सोए

सोते समय आप सिर के नीचे तकिया रख कर सोए और मन को शांत रख कर सोए जिससे हम खर्राटे के खतरे को कम कर सकते है और आराम की नींद ले सकते है  अगर आप झूठ बोलते है तो खर्राटे आने का खतरा बढ जाता हैi

Source: hinditips

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post: