ताजी-रसीली गाजर के 10 मीठे गुण

Loading...
 गाजर रस का एक गिलास जूस पूरे भोजन का काम करता है। यह कई रोगों में बेहतरीन औषधि भी है। आपने अक्सर लोगों को कहते सुना होगा कि गाजर खाने से आंखों की रोशनी बढ़ती है। इसलिए गाजर खाना चाहिए, लेकिन सच्चाई इससे बहुत अलग है जनाब।

 

जी हां गाजर सिर्फ आंखों के लिए ही लाभदायक नहीं है इसे खाने के कई और भी बड़े फायदे हैं। गाजर के रस में विटामिन ए,बी, सी,डी,ई,जी मिलते हैं। यह पीलिया की भी प्राकृतिक औषधि है। इसका सेवन ल्यूकेमिया (ब्लड कैंसर ) और पेट के कैंसर में भी फायदेमंद है।

सर्दियों में यह एक मौसमी सब्जी है। इसलिए इसका सेवन सर्दियों में अगर नियमित रूप से किया जाए तो विशेष रूप से लाभदायक होता है।

1. गाजर का जूस हमारे शरीर से विटामिन ए और ई की कमी को दूर करता है। इनकी कमी से आंखों की बीमारियां, त्वचा में सूखापन, बालों का टूटना, नाख़ून खराब होना जैसी समस्याएं होती हैं। विटामिन ए हमारे शरीर की हड्डियों और दांतों के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। यह आंखों की कमजोरी दूर करता है व त्वचा व बालों को स्वस्थ व चमकदार बनाता है।

2. गाजर में फाइबर बहुत अधिक मात्रा में मौजूद होता है। इसलिए गाजर को चबा चबा कर खाया जाए तो आंतों की सफाई हो जाती है। जिससे कब्ज और गैस जैसी समस्याओं में आराम मिलता है। गाजर का जूस नियमित रूप से पीने पर त्वचा चमकने लगती है।

3. गाजर हमारे शरीर में से विषैले पदार्थों को बाहर निकाल देती है। गाजर खाने से हम लंबे समय तक जवान बने रह सकते हैं। यदि भूख न लगती हो, अरुचि हो गई हो तो ऐसे में गाजर में नमक नींबू लगा कर अदरक और पुदीने के साथ सेवन करने से भूख लगने लगती है।

4. डायबिटीज के रोगियों के लिए गाजर अमृत समझी जाती है। एक गिलास गाजर के रस में एक कप करेले का रस मिला कर पीने से डायबिटीज में लाभ मिलता है या एक गिलास गाजर के रस में आधा कप आंवले का रस मिला कर दिन में दो तीन बार पीने से डायबिटीज में फायदा मिलता है। गाजर के साथ पालक के जूस में थोड़ा काला नमक मिलाकर पिएं फायदा होगा।

5. जो पुरुष कमजोरी से परेशान होते हैं उनके लिए गाजर का जूस बहुत लाभदायक होता है। चिकित्सा अध्ययनों ने यह साबित किया है कि गाजर कैंसर के खतरे को कम करती है। गर्भवती महिला व होने वाले बच्चे के लिए ये जूस बहुत फायदेमंद होता है।

6. रोजाना एक गिलास गाजर का जूस पीने से याददाश्त बढ़ती है। यदि आप अर्थराइटिस के मरीज है तो एक गिलास गाजर के रस से एक चम्मच अजमोदा चूर्ण दिन में तीन बार उपयोग करें। गाजर खून को साफ करती है। इसके सेवन से बुढ़ापा दूर रहता है। मानसिक और शारीरिक दोनों क्षमताएं विकसित होती हैं।

7. यदि मुंह में छाले हो गए हों तो ऐसे में गाजर के रस को मुंह में घुमा कर कुल्ला करके उस जूस को पी लेने से मुंह के छालों में राहत मिलती है।

8. यदि दूध पिलाने वाली स्त्री को दूध न बन रहा हो तो गाजर का इस्तेमाल करने से प्रसूता को दूध बनने लगता है।

Source: wahhindi

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post: