दुबला होना भी है एक समस्या

Loading...

यदि 30 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्ति का वजन उसके शरीर और उम्र के अनुपात सामान्य से कम है तो वह दुबला व्यक्ति कहलाता है। दुबला व्यक्ति किसी भी कार्य को करने में थक जाता है। उसके शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती है। शरीर में स्थित कुछ कीटाणुओं की रासायनिक क्रिया का प्रभाव दुबलापन का मुख्य कारण है। जिसकी गति थायरायड ग्रंथि पर निर्भर करती है। थायरायड ग्रंथि जितना अधिक कमजोर और छोटा होगा, मनुष्य उतना ही पतला और कमजोर होगा। इसके विपरीत थायरायइड ग्रंथि के स्वस्थ और मोटा होने पर मनुष्य उतना ही सबल और मोटा होगा।

Dublepan ke Karanदुबले व्यक्ति को कोई भी रोग जैसे- क्षय रोग, सांस का रोग, हृदय रोग, टायफाइड, गुर्दें के रोग, कैंसर बहुत जल्दी हो जाते हैं। ऐसे व्यक्ति का किसी भी बीमारी के लिए जल्दी ही उपचार कर लेना चाहिए नहीं तो ठीक होने में दिक्कत आ सकती है और रोग आसाध्य हो सकता है। गर्भवती होने के समय अधिक दुबली स्त्री कुपोषण का शिकार हो सकती है।

दुबलापन के कारण (Causes of Thinness)

  • चिंता, मानसिक और भावनात्मक तनाव की वजह से व्यक्ति दुबला हो सकता है।
  • पाचन शक्ति में गड़बड़ी की वजह से व्यक्ति अधिक दुबला हो सकता है।
  • हार्मोन्स असंतुलित होने के कारण व्यक्ति दुबला हो सकता है।
  • Digestion में गड़बड़ी हो जाने के कारण व्यक्ति दुबला हो सकता है।
  • शरीर में खून की कमी हो जाने के कारण दुबलेपन का रोग हो सकता है।
  • बहुत ज्यादा या बहुत कम व्यायाम करने की वजह से व्यक्ति दुबला हो सकता है।
  • Diabetes, Liver, अनिद्रा, क्षय, पुराने दस्त या कब्ज आदि रोग होने के कारण व्यक्ति दुबला हो सकता है।
  • आंतों में कीड़े हो जाने के कारण भी व्यक्ति दुबला हो सकता है।

Source: healthindian

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post: