बोन कैंसर को न करें नजरअंदाज

Loading...
बोन कैंसर को न करें नजरअंदाज

बोन (हड्डी) कैंसर को बोन का घातक ट्यूमर भी कह सकते हैं. जो नॉर्मल बोन टिसू को नष्ट कर देता है. दूसरे शब्दों में कहें तो बोन कैंसर असामान्य कैंसर है जिसकी शुरुआत बोन में होती है. कई तरह के बोन कैंसर होते हैं. बोन कैंसर के कुछ प्रकार बचपन में ही होते हैं.

अन्य अधिकांशतः वयस्कों में होता है. बोन कैंसर होने के क्या कारण हैं जानना थोड़ा मुश्किल है. लेकिन शोधकर्ताओं ने इस बीमारी के होने के खतरे के कई कारणों का पता लगाया. जैसे- उम्र, आनुवंशिकी, रेडियोथेरेपी, कीमोथेरेपी, ट्यूमर या बोन की अलग स्थिति.

चिकित्सा अनुसंधान के क्षेत्र में प्रगति के बावजूद, जिसमें कैंसर के प्रकार को शुरु में पता लगाना संभव हो सका. जैसे स्तन, सर्विकल, कोलोरेक्टल और त्वचा कैंसर. दुर्भाग्य से अभी तक कोई स्पेशल जांच नहीं है जिसकी सहायता से बोन कैंसर का पता शुरुआत में लगाया जा सके.

इसलिए, इस कैंसर का पता लगाने के लिए किसी तरह के लक्षण या संकेत का पता चले तो जितना जल्द संभव हो सके डॉक्टर द्वारा जांच कराएं. बोन कैंसर के संकेत और लक्षण कैंसर के आकार पर बहुत हद तक निर्भर करता है. और शरीर का जो हिस्सा प्रभावित है.

ये हैं आम लक्षणः-

– हड्डियों में दर्द पहले आता हो जाता हो, उसके बाद दर्द और ज्यादा बढ़ जाता हो और यह लगातार होता रहता हो.

– प्रभावित इलाके में सूजन होना.

– हड्डी का टूटा होना.

– मूवमेंट में प्रोब्लम होना.

– अन्य छोटी आम लक्षण हैं- वजन घटाना, थकान, बुखार, और एनीमिया.

फिलहाल बोन कैंसर का कोई इलाज नहीं है. हालांकि पहले कैंसर पहचाना जाय. उसके बाद इलाज संभव किया जा सकता है.

Source: grihshobha

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post: