डायबिटीज को कंट्रोल करने का सत् प्रतिशत इलाज

Loading...

%image_alt%

आँवला जूस 10 मिली. की मात्रा में दो ग्राम हल्दी पावडर मिला कर दिन में दो बार लें। यह रक्त में सक्कर की मात्रा को नियंत्रित करता है। औसत आकार का एक टमाटर, एक खीरा और एक करेला, इन तीनों का ज्यूस निकाल कर रोज खाली पेट सेवन करें। सौंफ के सेवन से भी डायबिटीज पर नियंत्रण संभव है।

काले जामुन डायबिटीज के मरीजों के लिए अचूक औषधि मानी जाती है। शतावर रस और दूध समान मात्रा में लेने से डायबिटीज में लाभ होता है।

नियमित रूप से दो चम्मच नीम का रस और चार चम्मच केले के पत्ते का रस लेना चाहिए। चार चम्मच आँवले का रस, गुडमार की पत्ती का काढ़ा भी मधुमेह नियंत्रण के लिए रामबाण है। गेहूँ के पौधों में रोगनाशक गुण होते हैं। गेहूँ के छोटे-छोटे पौधों का रस असाध्य बीमारियों को भी जड़ से मिटा डालता है। इसका रस मनुष्य के रक्त से चालीस फीसदी मेल खाता है। इसे ग्रीन ब्लड भी कहते हैं। रोगी को प्रतिदिन सुबह और शाम में आधा कप जवारे का ताजा रस दिया जाना चाहिए।

Source: sehatnama

Loading...

कृपया इस जानकारी को ज्यादा से ज्यादा व्हाट्सप्प और फेसबुक पर शेयर कीजिये धन्यवाद !……

Loading...

Next post:

Previous post: