इन चीजों की कमी से होता हैं डिप्रेशन, क्या जानते है अाप

Loading...

एक शोध के मुताबिक अाज दुनिया में डेढ़ करोड़ से ज्यादा लोग डिप्रेशन के शिकार हैं और भारत में मानसिक रोगियों की संख्या सबसे अधिक है। डिप्रेशन सिर्फ दिमागी बीमारी नहीं है। यह शरीर में कई और कमियों के कारण भी हो सकता है जिसमें पोषक तत्व भी शामिल है। अाइए जानते एेसे ही कारणों के बारे में जो बनते डिप्रेशन।
1. विटामिन डी
सर्दियों में खासतौर पर शरीर में विटामिन डी की कमी हो जाती है। इसका कारण ये है कि इस समय सूर्य का प्रकाश नहीं मिल पाता, जिससे अादमी डिप्रेशन का शिकार हो जाता है। एेसे में कॉड लीवर ऑयल, अंडों और फैटी फिश में भी विटामिन डी भरपूर मात्रा में होता है। यह दूध में भी पाया जाता है।
2.विटामिन बी
विटामिन बी समूह मस्तिष्क का सही तरीके से काम करने में मदद करता है। विटामिन बी समूह की शरीर में अगर कमी हो जाए तो स्मरण शक्ति कमजोर हो सकती है। आप अचानक थकान महसूस कर सकते हैं, डिप्रेशन के शिकार हो सकते हैं।
3.मैग्नीशियम
मैग्नीशियम एक एेसा तत्व है जो शरीर का आधे से ज्यादा हमारी हड्डियों में पाया जाता है। मैग्‍नीशियम की भरपूर मात्रा न लेने से सिरदर्द, अनिद्रा, तनाव आदि की शिकायत हो सकती है।
4.ओमेगा-3 फैटी ऐसिड
ओमेगा-3 फैटी ऐसिड दिमाग के सुचारू रूप से काम करने में मदद करता है। इससे  याद्दाश्त के साथ-साथ मिजाज (मूड) भी ठीक रहता है।
5.आयरन
आयरन की कमी महिलाओं में आम है। लगभग 50 प्रतिशत गर्भवती महिलाओं को आयरन की कमी होती है। आयरन की कमी से ऐनीमिया हो जाता है। इसके लक्षण डिप्रैशन के लक्षणों की तरह ही हैं – थकान, चिड़चिड़ापन, दिमागी धुंधलापन।
6.जिंक

ज़िंक बायोकैमिकल रिएक्शन से बचाता है, शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है जिंक में समुद्री भोजन और दूध-मेवे शामिल होते हैं।

Source: punjabkesari

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post: