ज्यादातर लोग नहाने या चेहरा धोने के लिए कोई भी साबुन उपयोग करने लगते हैं। उन्हें ये लगता है कि ये साबुन केवल सफाई करने के लिए होता है साबुन कोई भी हो उससे स्किन की सफाई तो करनी है। पर ये सोच गलत भी साबित हो सकती है। क्योंकि स्किन की केवल सफाई भर मायने नहीं रखती है, स्किन की सफाई के साथ जरूरी है कि स्किन को किसी तरह का नुकसान भी ना हो। पर अनजाने में लोग कोई भी साबुन उपयोग करने लगते हैं लेकिन जानकारों का मानना है कि साबुन के लिए जब आप पैसा खर्च कर ही रहे हैं तो थोड़ी सी सावधानी बरतने पर आपकी त्वचा के लिए उपयुक्त साबुन खरीद कर आप सफाई भी रख सकते हैं और त्वचा का ख्याल भी रख सकते हैं।

Choose face wash according to your face tone1

1. ऑयली स्किन के लिए-
बाजार में कई किस्म के साबुन आते हैं उनमें से एक है जर्म से सुरक्षा करने वाला साबुन, एंटीबैक्टीरियल साबुन में ट्राइक्लोसन और ट्राइक्लोकार्बन जैसे एंटीबैक्टीरियल तत्व होते हैं जो ऑयली स्किन के लिए कारगर होता है। पर इस तरह के साबुन के लिए सावधानी बरतना भी जरूरी होता है, अगर ऐसे साबुन का ज्यादा इस्तेमाल करते हैं तो स्किन रूखी हो सकती है।

Choose face wash according to your face tone2

2. हर तरह की त्वचा के लिए ग्लिसरीन युक्त साबुन है सदाबहार….
ग्लिसरीन मिला साबुन दवा की तरह उपयोग किया जा सकता है, ये साबुन हर तरह की स्किन के लिए फायदेमंद साबित होते हैं, चाहे वो ड्राई स्किन हो या फिर तैलीय त्वचा दोनों के लिए इस तरह के साबुन उपयोगी साबित हो सकते हैं। पर जिनती स्किन ड्राई हैं उनके लिए तो इस तरह का साबुन और भी फायदेमंद साबित होता है। विशेषज्ञों की राय है कि ड्राई स्किन काफी सेंस्टिव होती है जिनमें इस तरह के साबुन का इस्तेमाल करना चाहिए।

Choose face wash according to your face tone3

3. मिक्स त्वचा के लिए अरोमाथैरेपी युक्त साबुन
अगर किसी की स्किन ना तो ज्यादा तैलीय है और ना ही पूरी तरह से रूखी है यानी मिक्स है तो ऐसे लोगों के लिए इस तरह का साबुन ऐसी मिली-जुली त्वचा के लिए उपयोगी साबित हो सकता है। इस तरह के साबुन में एसेंशि‍अल ऑइल और खुश्बूदार फूलों के रस का इस्तेमाल किया जाता है। जो स्किन के साथ मन को भी तनाव मुक्त और तरोताजा बनाए रखता है।

Choose face wash according to your face tone4

4. मुहासों वाली स्किन के लिए….
अगर किसी के चेहरे पर मुहासा नज़र आ जाए तो वो उसके लिए परेशानी का सबब बन जाता है, फिर जिसकी त्वचा मुहासों वाली हो उसके लिए तो ऑल टाइम परेशानी होती है, और उन मुहासों की रोकथाम के लिए लोग हर तरह के उपाय करते हैं। ऐसे में अनजाने में कील-मुहासों से सुरक्षा के नाम पर बेचे जाने वाले साबुन का उपयोग कभी-कभी ज्यादा हानिकारक हो जाता है। ऐसे साबुन स्किन पर लाल चकत्ते छोड़ देता है, समझदारी इसमें है कि ऐसी स्किन के लिए कोई भी साबुन उपयोग करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर ले लें।

Choose face wash according to your face tone5

5. जड़ी-बूटियों से निर्मित साबुन…
आज के मिलावटी युग में खास कर तब जबकि केमिकल का बोलबाला है, ऐसे समय में सबसे बेहतर उपाय है हर्बल प्रोडक्ट, हर्बल ऑइल से निर्मित साबुन स्किन के लिए सामान्य साबुन की अपेक्षा ज्यादा फायदेमंद साबित होता है। जो स्किन को नुकसानदायक रसायनों से बचाता है और इस तरह के साबुन को कोई भी किसी भी मौसम में उपयोग कर सकता है। इसकी वजह है इसका स्किन फ्रेंडली होने का गुण।

Choose face wash according to your face tone6

तो अब बाजार से कोई भी साबुन खरीदने से पहले अपने त्वचा की किस्म को जाने तब खरीदें साबुन।

Source: khoobsurati

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!