गर्भावस्था में फायदेमंद है चीकू का सेवन, जानें और भी कई फायदे

Loading...

चीकू एक प्रकार का फल हैं। इसका स्वाद मीठा और प्रवत्ति शीतल होती है| यह पित्तनाशक, पौष्टिक फल कई लोगो को पसंद आता है| चीकू में शर्करा की मात्रा थोड़ी ज्यादा होती है| यदि खाना खाने के बाद चीकू का सेवन किया जाए तो यह कई तरह के लाभ प्रदान करता है।

इस फल की खासियत यह है की यह हर मौसम में बहुत आसानी से मिल जाता है और ज्यादा महंगा भी नहीं होता है| इस फल में कई तरह के पोषक तत्व जैसे की प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, विटामिन-ए, विटामिन सी, लोह तत्व आदि पाए जाते हैं। आप शायद नहीं जानते होंगे लेकिन यदि दूध के साथ चीकू का सेवन किया जाये तो इसके स्वास्थ्य लाभ अधिक बढ़ जाते हैं।

इस फल में 71 % पानी, 1.5 % प्रोटीन, 1.5 % चर्बी पायी जाती है| चीकू में विटामिन ए तथा विटामिन सी की भी बहुत अच्छी मात्रा होती है| इसमें इतने सारे पोषक तत्वों के मौजूद होने के कारण यह गर्भवती और फीड कराने वाली महिलाओं के लिए बहुत अच्छा माना जाता है|

चीकू में टैनिन पाया जाता है| जो की एक बेहतर एंटीइनफ्लेमेट्री एजेंट है| यह पेट संबंधी परेशानियों में काफी फायदेमंद है| इसमें ग्लूकोज भी मौजूद होता है जो शरीर को एनर्जी देने का काम करता है। आज हम आपको और भी कई Chiku Fruit Benefits in Hindi बता रहे है| इसके इतने सारे फायदे जानने के बाद यदि आप इसका सेवन नहीं भी करते होंगे तो आप इसका सेवन करने लगेंगे|

Chiku Fruit Benefits in Hindi: जानिए चीकू के अदबुध फायदे
Chiku Fruit Benefits in Hindiशरीर को एनर्जी दे

चीकू में ग्लूकोज प्रचुर मात्रा में पाया जाता है| इसलिए इसे सोर्स ऑफ़ एनर्जी कहा जाता है| यह शरीर को तुरंत ऊर्जा प्रदान करने का काम करता है। जो लोग रोज़ जिम जाते हैं, उन्हें ऊर्जा की बहुत आवश्यकता होती है इसलिए उन लोगों को नियमित चीकू का सेवन करना चाहिए|

कैंसर से बचाव

चीकू कैंसर से बचाने में भी फायदेमंद है| दरहसल चीकू में प्रचुर मात्रा में विटामिन ए और बी मौजूद होता है| इसके अतिरिक्त इसमें एंटीऑक्सिडेंट, फाइबर और अन्य पोषक तत्व भी पाए जाते हैं जो की कैंसर से बचाने में मदद करते है| इसमें मौजूद विटामिन ए फेफड़ों और मुँह के कैंसर से बचाने में सहायक है|

गर्भावस्था में फायदेमंद

चीकू में मौजूद पोषक तत्वों के चलते इसे गर्भवती महिलाओ के लिए हितकर माना गया है| इसके सेवन से खून की कमी दूर होती है| इसमें मौजूद कैल्शियम व फॉस्फोरस हड्डियों को मजबूत बनाने में सहायक है|

यह गर्भावस्था के दौरान होने वाली अन्य परेशानिया जैसे की मतली और चक्कर आना आदि समस्याओ को भी दूर करता है| इसलिए गर्भवती व फीड कराने वाली महिलाओं के लिए चीकू पोषक तत्त्वों का अच्छा विकल्प है।

पाचन तंत्र बेहतर बनाये

चीकू में आयरन, पोटेशियम, नियासिन, फोलेट आदि पाया जाता है| यह सभी तत्व पाचन तंत्र को स्वस्थ रखने में मदद करते है| इतना ही नहीं इसमें एंटी वायरल और एंटी बैक्टीरियल गुण पॉलीफेनोलिक एंटीऑक्सीडेंट पाये जाते है जिसके चलते इसमें एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-वायरल गुण मौजूद होते है| इन सभी Chikoo Health Benefits के चलते यह शरीर में बैक्टीरिया को आने से रोकता है|

त्वचा के लिए फायदेमंद

चीकू आपकी त्वचा के लिए भी बेहद फायदेमंद होता है| इसमें विटामिन ई मौजूद होता है जिससे आपके त्वचा को नमी मिलती है| नतीजन आपकी त्वचा में चमक आती है और वो स्वस्थ एवं सुन्दर हो जाती है| इतना ही नहीं चीकू में एंटीऑक्सीडेंट भी पाया जाता है| जो फ्री रेडिकल को खत्म करता है| इसलिए इसका सेवन करने वालो को झुर्रिया जल्दी नहीं होती है|

Sapodilla Benefits in Hindi: चीकू के अन्य फायदे इन्हे भी जानिए

  1. बुखार हो जाने पर रोगियों के लिए चीकू का सेवन पथ्यकारक है। और जो लोग इसका नियमित सेवन करते है उनकी आंतों की शक्ति बढती है और आंतें अधिक मजबूत होती हैं।
  2. जो लोग अपना वजन घटाना चाहते है| उनके लिए भी चीकू फायदेमंद है| दरहसल यह गैस्ट्रिक एंजाइमों को नाश करके पाचन तंत्र को मजबूत कर मोटापे से बचाता है।
  3. इसमें लेटेक्स नामक तत्त्व अच्छी मात्रा में पाया जाता है| इसलिए यह दाँत की कैविटी को भरने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है। इसका सेवन सर्दी और खासी को भी दूर करने में सहायक है|
  4. इसका सेवन मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी लाभप्रद है| इसके सेवन से दिमाग की तंत्रिकाओं का तनाव कम होता है| इसलिए तनाव के चलते जिन लोगो को अनिद्रा आदि की समस्या है वो इसका सेवन जरूर करे|
  5. आपको जानकर शायद आश्चर्य हो लेकिन चीकू का सेवन बालो के लिए भी लाभदायक है| इसके बीज से निकाला गया तेल बालों को मॉइस्चराइज़ करता है| इससे बाल मुलायम होते है और उनमे चमक आती है| इससे बालो का झड़ना भी कम हो जाता है|

ऊपर आपने जाना Chiku Fruit Benefits in Hindi. चीकू ह्रदय की सेहत और रक्त वाहिकाओं के लिए बहुत लाभप्रद होता है। इसके सेवन से गैस्ट्रोइंटेस्टिनल कैंसर के होने का खतरा भी कम होता है। इसमें मौजूद बीटा-क्रीप्टोक्सान्थिन फेफड़ो के कैंसर के होने के खतरे को कम करता है। इसलिए इसका सेवन जरूर करे|

Source: hrelate

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post: