क्या दिल के मरीज़ कर सकते हैं एक्सरसाइज़?

Loading...

अगर आपको दिल की कोई बीमारी है तो आपको सबसे पहले यही सलाह दी जाएगी कि आप हेल्दी डायट लें और एक्सरसाइज़ करें। लेकिन कितनी एक्सरसाइज़ आपके लिए ठीक रहेगी? क्योंकि आपको दिल पर ज्यादा दबाव भी नहीं डालना। हमने एशियन हार्ट इंसीट्यूट के सीनियर इंटरवेंशनल कार्डियोलॉजिस्ट डॉक्टर नीलेश गौतम से पूछा कि क्या दिल के मरीज़ों के लिए एक्सराइज़ करना सुरक्षित है? अगर हां, तो कितनी एक्सरसाइज़ की जाए?

Can-heart-patient-do-exercise

डॉक्टर गौतम के अनुसार, ‘हां, दिल की बीमारी से पीड़ित लोग भी एक्सरसाइज़ कर सकते हैं, लेकिन ज़रूरी है कि वो अपने डॉक्टर की सलाह लें।’ अगर आपकी आर्टरी में गंभीर ब्लॉकेज की समस्या न हो तो, डॉक्टर गौतम ये सलाह देते हैं:

  • किसी भी तरह की दिल की बीमारी हो, अगर हमें मालूम होतो है कि वो कम है, ठीक की जा सकती है और मरीज़ दवाएं ले रहा है तो ऐसे लोगों को हम धीरे-धीरे और ग्रेडेड एक्सरसाइज़ की सलाह देते हैं।
  • ऐसे लोग धीरे-धीरे वॉक के साथ शुरूआत कर सकते हैं और जब वो इसके साथ आराम महसूस करने लगें तो इंटेसिटी बढ़ा सकते हैं।
  • जिस इंसान को दिल की बीमारी है उसे हफ्ते के 5 दिन, हर रोज़ आधे घंटे वर्कआउट करना चाहिए। कोशिश करनी चाहिए ये सुबह के वक्त हो। ऐसे लोग किसी भी तरह की कार्डियो एक्सरसाइज़ जैसे कि साइक्लिंग, स्विमिंग, जॉगिंग या रनिंग कर सकते हैं।
  • सबसे ज़रूरी है कि इस बात का ध्यान रखा जाए कि ऐसे मरीज़ों को भारी वज़न नहीं उठाना चाहिए, इससे उन पर बुरा असर पड़ सकता है।

अगर आपकी आर्टरीज़ में गंभीर ब्लॉक्स हों तो डॉक्टर गौतम सलाह देते हैं कि ऐसे मरीज़ों को पहले अपना इलाज करवाना चाहिए फिर डॉक्टर की सलाह के साथ ही एक्सरसाइज़ करनी चाहिए।

Source: thehealthsite

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post: