नंगे पैर दौड़ने से करीब 16 फीसदी बढ़ जाती है याददाश्त

Loading...

नंगे पैर दौड़ने से करीब 16 फीसदी बढ़ जाती है याददाश्त - India TV

स्मरणशक्ति बढ़ाने के लिए नंगे पैर दौड़ना जूते पहन कर दौड़ने से कहीं ज्यादा बेहतर है। एक नए शोध से यह जानकारी मिली है। हमें अपने समूचे जीवनकाल में स्मरणशक्ति तेज होने की जरूरत पड़ती है। अगर आपकी याददाश्त तेज होती है तो इसका फायदा आपको स्कूल से लेकर दफ्तर तक और सेवानिवृत्ति के बाद भी मिलता है।

शोधकर्ताओं में से एक अमेरिका के नार्थ फ्लोरिडा विश्वविद्यालय के ट्रासे एलोवे का कहना है, “यह शोध उन लोगों के लिए काफी काम का है, जो अपनी स्मरणशक्ति बढ़ाने के तरीके ढूंढ़ते रहते हैं।” यह शोध परसेपट्यूअल एंड मोटर स्किल्स नामक पत्रिका में प्रकाशित हुआ है। इसमें कहा गया है कि नंगे पैर दौड़ने से हमारी याददाश्त लगभग 16 फीसदी बढ़ जाती है।

नार्थ फ्लोरिडा विश्वविद्यालय के एक अन्य शोधार्थी रोज एलोवे का कहना है, “अगर हम जूते उतार कर दौड़ने जाते हैं, तो दौड़ खत्म करते-करते हम कहीं ज्यादा स्मार्ट बन जाते हैं।” नंगे पांव दौड़ने के दौरान हम पैरों का संचालन काफी ध्यान लगाकर करते हैं कि कोई चीज चुभ न जाए या कहीं गलत जगह पांव न पड़ जाए। रोज एलोवे बताते हैं कि यह संभव है कि नंगे पांव दौड़ने के दौरान हमें अपने दिमाग पर काफी ध्यान देना पड़ता है। इसलिए हमारी स्मरणशक्ति तेज हो जाती है।

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों  के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post: