ज्यादातर प्रतिभागियों को शोध के दौरान अपनी दमे की दवाई जारी रखने को कहा गया. यह अध्ययन 2 हफ्तों से लेकर चार सालों तक चला. शोधकर्ताओं ने कुल 5 अध्ययनों में यह पाया कि योग करने से दमा का असर कम होता है और लोगों के जीवन बेहतर होता है. यांग आगे बताते हैं, हालांकि यह साफ नहीं है कि योग करने से क्या फेफड़ों की कार्यप्रणाली में कोई सुधार है या दवाईयों की जरुरत कम होती है. या फिर क्या योग का दमे के मरीजों पर कोई दुष्प्रभाव तो नहीं होता.

स्वास्थ्य. दुनियाभर में करीब 30 करोड़ लोग दमे की बीमारी से पीड़ित हैं. इसके कारण ज्यादातर लोगों को कफ, सीने में अकड़न, खांसी और सांस लेने में तकलीफ होती है. योग करने से आपको इस बीमारी से राहत मिल सकती है. एक नए अध्ययन से यह जानकारी सामने आई है.  प्रमुख शोधार्थी हांगकांग के चायनीज विश्वविद्यालय के जूयागो आंग का कहना है, ‘‘हमारे शोध से पता चला है कि योग करने से दमे से राहत मिलती है.’’

Source: palpalindia

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!