अजवाइन में छुपे है कई औषधीय गुण

Loading...

घरेलू उपचार के रूप में अजवाई का इस्तेमाल पेट में कुछ भी गड़बड़ी होने पर किया जाता है। अजवाइन हाजमा शक्ति को बढ़ाने के साथ-साथ स्वास्थ को और कई तरह से भी लाभ देती है। आइए जानते है अजवाइन के लाभ। Ajwain ke Fayde1. प्रेग्नेंट और दूध पिलाने वाली माताओ के लिए फयदेमंद (Celery for Pregnant and Feeding Mother)

अजवाइन में anti inflammatory प्रॉपर्टी होने के कारण यह प्रेग्नेंट महिलाओ और दूध पिलाने वाली महिलाओ को indigestion की समस्या से राहत दिलाने में बहुत मदद करती है। जिन प्रेग्नेंट महिलाओ को कब्ज हो वे अजवाइन का नियमित सेवन करे। प्रेग्नेन्सी के बाद महिलाओ की बॉडी के भीतर जो सूजन होती है उसको अजवाइन दूर करने में बहुत मदद करती है। यह दूध पिलाने वाली माताओ का दूध बढाने में भी मदद करती है। 

टिप – प्रेग्नेंट महिलाओ को एक बात का ध्यान रखना चाहिए की वे इसका सेवन संतुलित मात्रा में ही करे। इसका ज़्यादा सेवन करने से पेट में bile secretion  अत्यधिक ज़्यादा होने लगता है।

2. बदहज़मी (indigestion) को दूर करे (Celery for Indigestion)

अजवाइन ही एक ऐसा फुड प्रॉडक्ट है जिसमे thymol compound प्रचुर मात्रा में होता है और यही हाजमा शक्ति को बढ़ाने में मदद करता है। इसका इस्तेमाल बदहज़मी, जी मचलना और शिशुओ के पेट में दर्द के उपचार के रूप में किया जाता है। 

टिप – 1 कप पानी में 1 चम्मच अजवाइन डालकर तब तक उबाले जब तक पानी आधा ना हो जाए। उसके बाद पानी को थोड़ा ठंडा करके धीरे-धीरे पिए। जी मचलने की समस्या को दूर करने के लिए पान के पत्ते में 1 चम्मच अजवाइन डालकर धीरे-धीरे दबाकर रस को पीते रहे।

3. खाँसी और दमा में राहत दिलाती है (Celery for Cough and Asthma)

अजवाइन में thymol compound होने के कारण यह anesthetic, anti-bacterial और anti-fungal होती है। बलगम के कारण होने वाली खाँसी को दूर करने में भी यह मदद  करती है।

टिप – ज़रूरत के अनुसार अजवाइन लेकर उसको पीस ले और पानी के साथ सेवन करे। एक और तरह से इसका इस्तेमाल कर सकते है। एक सूती कपड़े में थोड़ा -सा अजवाइन लेकर उसको पोटली की तरह बाँध ले। उसके बाद तवा पर थोड़ा गरम कर ले। फिर इसको चेस्ट पर रखकर सेंके।

4. एसिडिटी को ठीक करती है अजवाइन (Celery for Acidity)

एसिडिटी एक आम पेट की बीमारी है जिससे कोई भी बच नही पता है। अजवाइन में thymol compound होने के कारण यह एसिडिटी में काफ़ी फायदा दिलाती है। आमतौर पर गैस या एसिडिटी के कारण जी मचलना का एहसास होता है उसको भी यह कम करती है। 

टिप: बराबर की मात्रा में अजवाइन और नमक का मिश्रण बना ले और सेवन करे। इसको खाने से एसिडिटी के दौरान जो पेट में दर्द होता है उससे भी राहत मिलती है।

इसके इस्तेमाल का दूसरा तरीका भी है – 1 कप उबलते हुए पानी में 1 चम्मच अजवाइन और जीरा डाले। इस मिश्रण को तब तक उबाले जब तक की वह भूरे रंग का ना हो जाए। इसके बाद इसका सेवन करे।

5. हार्ट को स्वस्थ रखती है (Celery for Healthy Heart)

अजवाइन में Niacin, Thymol और विटमिन्स होते है, जो दिल को स्वस्थ रखने में इंपॉर्टेंट रोल अदा करते है। यह हार्ट में ब्लड सर्क्युलेशन को इंप्रूव करने में मदद  करते है। 

टिप – 1 कप पानी में 1 चम्मच अजवाइन डालकर उबाले और उस पानी को रोज सुबह खाली पेट पिए। इससे दिल की बीमारिया दूर होंगी।

6. माइग्रेन के दर्द से राहत दिलाती है (Celery for Migraine)

अजवाइन की महक लेने से माइग्रेन के दर्द में राहत मिलती है। अजवाइन का पेस्ट बनाकर सिर पर लगाने से भी फायदा होता है। इसमे Thymol होने के कारण यह pain killer की तरह काम करती है।

Source: healthindian

Loading...

कृपया इस महत्वपूर्ण जानकारी को अपने परिवार और मित्रों के साथ ज्यादा से ज्यादा शेयर करें!

Loading...

Next post:

Previous post: